इलाहाबाद पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को विरोध का सामना करना पड़ा है। धूमनगंज में दो छात्राओं ने अचानक से अमित शाह के काफिले के सामने आकार उन्हे काले झंडे दिखाए। जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने छात्राओं को पकड़ सरेआम उनकी पिटाई की।

सिविल लाइंस सीओ श्रीशचंद्र के मुताबिक, काला झंडा दिखाने वाली एक लड़की नेहा यादव है, जो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की छात्रा है। छात्राओं का कहना है कि वे छात्रों और बेरोजगारों के हितों की अनदेखी को लेकर अपना विरोध जता रही थीं।

बता दें कि 2019 की तैयारी मे जुटी बीजेपी में सत्ता में वापसी हिन्दुत्व के जरिए ही करना चाहती है। ऐसे में अमित शाह की नजर कुंभ पर है और अमित शाह हिन्दू संतों को मनाने में जुटे हुए है।

Zakir Ali Tyagi ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಜುಲೈ 27, 2018

इस दौरे पर शाह ने संतों के साथ ज्यादातर वक्त बिताया। उनसे आत्मीय रिश्ते जोड़े। चार घंटे 40 मिनट के अपने दौरे में उन्होंने 23 मिनट केवल अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि और महामंत्री महंत हरिगिरि से अकेले में कुंभ की तैयारियों को लेकर वार्ता की।