sanz

मशहूर फिल्म अभिनेता संजय खान ने अपनी आत्मकथा The Big Mistakes of my life में अपनी राजनीतिक जीवन को लेकर कई बड़े खुलासे किए है। जिसमे उन्होने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के बारे में भी जिक्र किया है।

संजय खान ने अपनी आत्मकथा में लिखा है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद उनके बहुत अच्छे दोस्त हैं और गुलाम नबी आजाद ही वो नेता रहे हैं, जिन्होंने बार-बार कांग्रेस पार्टी को मुश्किलों से निकाला। उन्होने ये भी बताया कि पीवी नरसिम्हा राव के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के पीछे भी गुलाम नबी आजाद का हाथ था।

संजय खान का कहना है कि कांग्रेस ने एक बार उन्हें भी राज्यसभा और लोकसभा की सीट का ऑफर दिया था। संजय खान कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता पी.चिदंबरम के कांग्रेस में वापसी कराने का क्रेडिट भी ले रहे हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संजय खान ने अपनी आत्मकथा में दिवंगत उद्योगपति धीरुभाई अंबानी की उस बात का जिक्र भी किया, जिसमें धीरुभाई ने कथित तौर पर कहा था कि सभी मंत्री कुछ नहीं जानते, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि उन्हें सभी बातें डिटेल में समझायी जाएं।

संजय खान ने अपनी आत्मकथा में संसद पर हुए हमले के बारे में भी लिखा, भाजपा के एक सांसद ने उनसे कहा था कि जब संसद भवन पर आतंकी हमला हुआ था, उस वक्त लालकृष्ण आडवाणी बतौर गृहमंत्री टेबल के नीचे से सुरक्षा अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।

संजय खान ने 1980 के दौरे की उस काली घटना को भी याद किया, जिसमें उन्होंने एक पार्टी में लोगों के सामने मशहूर अभिनेत्री जीनत अमान की पिटाई की थी।

Loading...