Tuesday, January 25, 2022

CAA प्रदर्शन में शामिल होने पर मद्रास IIT के जर्मन छात्र को वापस भेजा गया

- Advertisement -

चेन्‍नै: आईआईटी मद्रास ने स्‍टूडेंट प्रोग्राम के तहत पढ़ाई करने के लिए भारत आए जर्मन छात्र जैकोब लिंडेंथल को अधिकारियों ने कथिततौर पर अपने वीजा नियमों का उल्लंघन करने के लिए स्वदेश लौटने का आदेश दिया है। फिजिक्‍स से एमएससी कर रहे जैकोब ने पिछले सप्‍ताह नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चेन्‍नै में हुए विरोध प्रदर्शन में हिस्‍सा लिया था।

जैकब ने उसके खिलाफ की गई कार्रवाई को लेकर कहा, ”मुझे भारत में प्रतिबंधित कर दिया गया है। मेरे पास मुझे प्रतिबंधित किए जाने को लेकर कोई पुष्टि नहीं है लेकिन मुझे निर्वासन की धमकी दी गई है।” साथ ही जैकब ने कहा कि जर्मनी में हम यह सब कुछ देख चुके हैं।

लिंडेंथल ने कहा कि उन्हें डीन के कार्यालय के एक अधिकारी का कॉल आया था। उसने सुझाव दिया कि मैं कल कॉलेज छोड़कर जा सकता हूं। हालांकि कल क्रिसमस की रात है इसलिए मैने तुरंत जाने का फैसला किया। इसके बारे में मैंने अपने माता-पिता को कोई जानकारी नहीं दी है। आईआईटी के कार्यक्रम को आधें में छोड़कर जा रहे इस दक्षिण जर्मनी के छात्र ने कहा कि उनकी भागीदारी पर सवाल इसलिए किया जा रहा है क्योकि वह प्रोटेस्ट मार्क्सवादी और चिंता बार समूह द्वारा आयोजित किया गया था।

जैकोब ने कहा कि मैं आईआईटी-एम कैंपस से प्यार करता हूं, मैं भारत से प्यार करता हूं, लेकिन मैं देश में असमानता के चरम सीमाओं के बारे में चिंतित हूं । जर्मनी में किसी को भी कानूनी प्रदर्शन में भाग लेने के लिए कभी भी इस तरह से बेदखल नहीं किया जाता है।

आईआईटी में एक छात्र सामूह चिंटा बार ने लिंडेंथल के साथ भाई-चारा पेश किया। एक बयान में भारतीयों के अधिकारों की रक्षा और मानवता के प्रति लिंडेंथल की चिंताओं के लिए संघर्ष का हिस्सा बनने के लिए उसका आभार व्यक्त किया। इस बीच IIT- मद्रास के निदेशक भास्कर राममूर्ति ने कहा कि उन्हें इस घटना के बारे में जानकारी नहीं है, क्योंकि वे शहर से बाहर थे।

एफआरआरओ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वह लिंडेंथल के मामले से अनजान थे, द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि अगर जर्मन छात्र ने विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था, तो यह भारत में रहने वाले विदेशियों के लिए वीजा नियमों का उल्लंघन करने का “स्पष्ट मामला” था। “यदि कोई उल्लंघन होता है, तो संस्था अधिकारियों को मामले की रिपोर्ट करने के लिए बाध्य हैं। उनका वीजा जल्द ही रद्द हो सकता है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles