Sunday, September 19, 2021

 

 

 

ओडिशा सीएम की लेखिका बहन ने पद्मश्री लेने से किया इनकार, बोलीं – यह सही समय नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

भुवनेश्वर: जानी-मानी लेखिका गीता मेहता ने शनिवार को पद्म श्री पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया। केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शुक्रवार को ही उनके नाम की घोषणा की थी।

गीता ने अवॉर्ड लेने से इनकार करते हुए कहा है कि यह अवॉर्ड लेने का सही समय नहीं है, क्योंकि लोकसभा चुनाव आने वाले हैं।  गीता का कहना है कि लोकसभा चुनाव से पहले पुरस्कार दिया जाना राजनीति से प्रेरित लग रहा है। बता दें कि गीता ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बहन है।

गीता मेहता ने एक प्रेस स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा, ‘मैं बहुत सम्मानित महसूस कर रही हूं कि भारत सरकार ने मुझे पद्म श्री जैसे सम्मान के लायक समझा। लेकिन अफसोस के साथ मुझे इसे लेने से इनकार करना पड़ रहा है। देश में आम चुनाव नजदीक हैं और अवॉर्ड की टाइमिंग से समाज में गलत संदेश जाएगा, जो मेरे और सरकार दोनों के लिए शर्मिंदगी की बात होगी। इसका मुझे हमेशा अफसोस रहेगा।’

गीता को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म श्री के लिए चुना गया था। ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक की बेटी गीता मेहता इन दिनों न्यू यॉर्क में हैं। गृह मंत्रालय ने उन्हें ‘फॉरेनर’ कैटिगरी में अवॉर्ड दिया है, जबकि सूत्रों के मुताबिक वह भारतीय नागरिक हैं और भारतीय पासपोर्ट रखती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles