लखनऊ | उत्तर प्रदेश पुलिस का सरदर्द बने पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति ने अपने ऊपर लगे रेप के आरोपों पर चुप्पी तोड़ी है. एसपी मंजिला सैनी के समक्ष प्रजापति ने अपना बयान दर्ज कराया. प्रजापति ने रेप और यौन शोषण के आरोपों को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा की पीडिता ने जानबूझकर मुझ पर यह आरोप लगाया है. पीडिता लगातार उन पर कुछ काम करने का दबाव बना रही थी, मना करने पर उसने यह आरोप लगाया.

मालूम हो की प्रजापति को कल लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था. गिरफ़्तारी के बाद अदालत ने प्रजापति को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. पूछताछ के दौरान गायत्री प्रजापति ने कहा की पीडिता लगातार मुझ पर दबाव बना रही थी मैं लेखपाल अशोक तिवारी के बेटे से उसकी बेटी की शादी करा दूँ. मैं पीडिता की बात को टाल रहा था जो उसको पसंद नही था.

प्रजापति ने आगे बताया की पीडिता हमीरपुर में खनन के पट्टे की भी मांग कर रही थी. उसको मालूम था की अशोक से रिश्तेदारी जुड़ने के बाद उसके सभी काम आसानी से हो जायेंगे. चूँकि लेखपाल अशोक तिवारी मेरा काफी करीबी था और खनन सम्बन्धी मामले वो ही देखता था इसलिए पीडिता उससे रिश्तेदारी जोड़ना चाहती थी. इस बारे में अशोक ने मुझसे काफी बार बात भी की थी.

प्रजापति ने पूछताछ में बताया की मैंने अशोक को खुद निर्णय लेने के लिए कहा. इसके बाद अशोक ने शादी के लिए मना कर दी. इसी वजह से पीडिता ने मेरे ऊपर रेप और बेटी के यौन शोषण का आरोप लगा दिया. प्रजापति ने यह भी बताया की उनके जन्मदिन के मौके पर उसने पीडिता को देखा था लेकिन तब भी उससे कोई मुलाकात नही हुई. यही नही पीडिता ने कई बार मेरे ऑफिस और घर के भी चक्कर लगाए लेकिन मैं उसे नही मिला.

उधर एसपी मजिला सैनी ने बताया की गायत्री प्रजापति और पीडिता के बयान रिकॉर्ड कर लिए गए है. इसके अलावा पीडिता के कॉल डिटेल और लोकेशन की भी जानकारी जुटा ली गयी है. जिससे काफी चीजे स्पष्ट हो गयी है. गायत्री के आज दर्ज किये गए बयान को कोर्ट के सामने रखा जायेगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?