ग्रेटर नोयडा | गुरुवार से देश भर में नवरात्रों शुरू हो जायेंगे. इसके लिए लोगो ने तैयारिया भी शुरू कर दी है. लेकिन कुछ हिन्दू संगठनो ने नवरात्रों में मीट की दुकाने बंद कराने और मस्जिद से लाउड स्पीकर उतरवाने की मांग की है. इन संगठनो ने चेतावनी दी है की अगर बुधवार शाम तक उनकी मांग पूरी नही हुई तो वो खुद मीट की दुकाने बंद करा देंगे. इससे पहले कांवड़ यात्रा के दौरान भी कुछ इसी तरह की मांग उठी थी.

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोयडा में कई हिन्दू संगठनो ने नवरात्र के दौरान मीट और अन्डो की दुकाने बंद कराने की मांग की ही. इन्ही संगठनो में से एक गौरक्षक दल ने प्रशासन से मस्जिद के लाउडस्पीकर उतारने की भी मांग की है. उनका कहना है की रमजान के समय कई जगहों पर मंदिर के लाउड स्पीकर उतारे गए. इसलिए नवरात्रों में मस्जिद के लाउडस्पीकर उतरने चाहिए. उस समय प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरक्षक दल के राष्ट्रिय अध्यक्ष और विश्व हिन्दू महासंघ के प्रदेश मंत्री वेद नागर ने कहा की उन्होंने मंगलवार को डीएम को पत्र लिखकर मीट और अन्डो की दुकाने बंद कराने और मस्जिद से लाउड स्पीकर हटाने की मांग की है. हमारा मानना है की नवरात्र के दौरान किसी भी जीव की ह्त्या नही होनी चाहिए. इसके अलावा होटल और रेस्त्रौरेंट में नॉन वेज खाना भी नही परोसा जाना चाहिए. इसके लिए प्रशासन को बुधवार तक का समय दिया गया है.

वेद नागर ने आगे कहा की अगर बुधवार तक सभी मीट , चिकेन , मटन की दुकाने बंद नही हुई तो वो खुद इन दुकानों को बंद करा देंगे. हालाँकि गौतमबुद्धनगर के डीएम बीएन सिंह ने गौरक्षक दल की और से कोई भी चिट्ठी मिलने से इनकार किया. उन्होंने कहा की अभी तक उनके पास कोई भी पदाधिकारी इस तरह की मांग लेकर नही आया है. अगर कोई आएगा तो उसकी बात सुनेंगे. लेकिन किसी भी कानून हाथ में नही लेने दिया जाएगा.

Loading...