महात्मा गांधी को बचाने वाले रघु नायक ओडिशा के केन्द्रपारा जिले के जगुलाईपड़ा गांव के निवासी थे. उन्होंन ही भागते हुए गोडसे को पकड़ कर पुलिस को सोंपा थी। उनके इस बहादुरी के लिए तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने उन्हें 500 रूपये का इनाम दिया था। 1983 में उनका निधन हो गया था।

बुद्धवार को 85 वर्षीय नायक की पत्नी मंदोदरी नायक को ओडिशा के सीएम ओमान चांडी ने सम्मानित कर 5 लाख रूपये का इनाम दिया। नायक के पुत्र पुलिस डिपार्टमेंट में ड्राईवर थे। 2002 में एक सड़क दुर्घटना में उनकी मौत हो गई थी। उनकी दो बेटियां है जो अपनी मां और दादी के साथ गरीबी में जीने को मजबूर हैं।

Loading...