239140 uttarakhand brave policemen

उत्तराखंड के नैनीताल में हिंदुत्ववादियों के हाथों एक मुस्लिम की जान बचाने वाले सिख पुलिसकर्मी पुरे देश में चर्चा का विषय बने हुए है. चारों और उनकी बहादुरी की चर्चा हो रही है. लेकिन कुछ लोग उन्हें निशाना भी बना रहे है.

इस मामले में सब-इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह ने कहा है कि संभावित लंचिंग से मुस्लिम युवा को बचाने के बाद मुझे समर्थन के साथ और नफरत भरे संदेश भी मिल रहे हैं. उनका कहना था कि मैं केवल अपना कर्तव्य निभा रहा था.

बता दें कि इस पूरी घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमे  हिंदुत्व के फ़र्ज़ी ठेकेदार के मुस्लिम युवक की जान लेने पर इसलिए उतारू हो गए थे कि वह अपनी एक हिन्दू लड़की दोस्त के साथ गर्जिया मंदिर आया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हिन्दू लड़की के साथ मुस्लिम युवक को देखकर हिंदुत्व के फ़र्ज़ी ठेकेदारों ने इन सभी पर हमला कर दिया. उन्होंने मुस्लिम लड़के के साथ मारपीट शुरू कर दी. इस बीच सूचना मिलने पर सब इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह और अन्य पुलिसकर्मी भी मौके पर पहुंचे. उन्होंने स्थिति के नियंत्रित करने की कोशिश की. लेकिन ये लोग लड़के की जान लेने पर तुले थे.

ऐसे में सबसे पहले गगनदीप ने मुस्लिम लड़के को ढूंढा और उसे अपने साथ ले जाने लगे. भीड़ में मौजूद लोग पुलिस के आने पर भी रुके नहीं और वो मुस्लिम युवक को मारते रहे. युवक को बचाने के लिए गगनदीप ने उसे अपने पास खींच लिया. वे उसे लोगों की मार से बचाते रहे. उन्होंने युवक का सिर भी हाथ से छिपा लिया, ताकि वहां उसे लगे नहीं.

इस दौरान भीड़ में खड़े एक व्यक्ति ने पूछा कि क्यों मार रहे हो तो एक आदमी बोला कि ‘हम उसे टुकड़ों में काट देंगे. आप एक हिंदू हैं और एक मुस्लिम के साथ घूमती हो. मैं तुम्हें भी काट दूंगा.

Loading...