had123

had123

हादिया उर्फ़ अखिला अशोकन और शिफिन जहाँ की शादी को दक्षिणपंथियों ने जिस तरह से लव जिहाद का मामला बताकर पेश किया था, उसे अब पर्दा गिरता जा रहा है.

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पेशी के दौरान हादिया ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा सहित तीन जजों वाली बेंच के सामने अपने भविष्य को लेकर पति के साथ जाहिर रहने की इच्छा जाहिर की थी. जिसके बाद से ही ये पूरा मामला शफिन के पक्ष में जाता दिख रहा है.

अब इस मामले में हादिया ने कहा कि मैंने कोर्ट से आजादी के लिए गुहार लगाई है. मैं अपने पति से मिलना चाहती हूं, लेकिन मैं अब तक आजाद नहीं हूं और यही सच्चाई भी है.

हादिया ने आगे कहा, ‘मैंने हर भारतीय नागरिक तरह अपने मूल अधिकारों की मांग की है. इसका सियासत और जाति-धर्म से कोई लेना-देना नहीं है. मैं जिन्हें पसंद करती हूं, उनसे बात करना चाहती हूं.’

ध्यान रहे हादिया इस वक्त सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद तमिलनाडु के सलेम होम्योपैथी कॉलेज में अपनी 11 महीने की होम्योपैथी इंटर्नशिप पूरा करने पहुँच चुकी है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें