Monday, July 26, 2021

 

 

 

शाहीन बाग के चार महीने के नन्हे प्रदर्शनकारी ने दुनिया को कहा अलविदा

- Advertisement -
- Advertisement -

पिछले दो महीनों से देश की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन में शामिल चार महीने के नन्हे प्रदर्शनकारी मोहम्मद ने दुनिया को अलविदा कह दिया। कड़कड़ाती ठंड में प्रदर्शन के कारण उसकी मौत हो गई।

मासूम के माता-पिता मोहम्मद आरिफ और नाजिया बाटला हाउस इलाके में एक छोटी सी झोपड़ी में रहते हैं। बरेली के रहने वाले इस दंपति की 5 साल की बेटी और एक साल का बेटा भी है। आरिफ एक एम्ब्रॉयडरी कारीगर होने के साथ-साथ ई-रिक्शा भी चलाता है। उसकी पत्नी भी एम्ब्रॉयडरी के काम में उसकी मदद करती है।

हालांकि उसकी मां का कहना है कि वह आगे भी प्रदर्शन में हिस्सा लेगी, क्योंकि यह उसके बच्चों के भविष्य के लिए है।  नाजिया ने बताया कि वह पहले दिन से ही शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन में जा रही थी। कड़कड़ाती ठंड में पड़ोसी महिलाओं के साथ वह कभी पैदल को कभी पति के साथ ई-रिक्शा में जाती थी। वह प्रदर्शन स्थल पर रात में रुक भी जाती थी। 30 जनवरी की रात वह शाहीन बाग से बेटे मोहम्मद जहां को लेकर घर पहुंची। देर रात सभी सो गए।

अगले दिन नाजिया उठी तो देखा कि बेटे मोहम्मद जहां के शरीर में कोई हरकत नहीं थी। वह बुरी तरह डर गई। फौरन उसे नजदीकी अलशिफा अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। नाजिया ने बताया कि बेटे की तबीयत ठंड से खराब थी। नाजिया का कहना है कि वह अपने दोनों बच्चों के भविष्य के लिए सीएए के खिलाफ लड़ाई आगे भी जारी रखेगी।

आई लव माई इंडिया’
आरिफ ने अपने बेटे मोहम्मद की एक तस्वीर दिखाई। इसमें मोहम्‍मद को एक ऊनी कैप पहनाई गई है और उस पर लिखा है- आई लव माई इंडिया। मोहम्‍मद की मां नाज़िया ने कहा कि उनके बेटे की 30 जनवरी की रात को प्रदर्शन से लौटने के बाद नींद में ही मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles