पूर्व रॉ प्रमुख एएस दुलत बोले – पुलवामा हमला चुनाव से पहले बीजेपी के लिए तोहफा

रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (राॅ) के पूर्व प्रमुख एएस दुलत ने शनिवार काे कहा कि चुनाव से पहले पुलवामा हमला जैश की अाेर से भाजपा या प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी के लिए ताेहफा था और पाकिस्तान में आतंकी शिविर पर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देना बिल्कुल ठीक था।

इंडियन इकाेनाॅमिक ट्रेड आर्गेनाइजेशन के एक कार्यक्रम के इतर बातचीत में दुलत ने कहा कि पाकिस्तान के अंदर जाकर किया गया सर्जिकल स्ट्राइक ठीक था। उनसे पूछा गया था कि पुलवामा हमले और उसके बाद के हालात काे वह कैसे देखते हैं।

दुलत ने कहा कि अगर व्यापक नजरिये से देखें ताे राष्ट्रवाद अच्छा है लेकिन नजरिया संकुचित हाे ताे यह अच्छा नहीं है। हमें राष्ट्रवाद के बजाय सिर्फ देशभक्ति पर ही ध्यान रखना चाहिए। राष्ट्रवाद हमें युद्ध की और ले जा सकता है। न्यूजीलैंड की मस्जिदाें में अंधाधुंध गाेलीबारी कर लाेगाें की हत्या के बाद वहां की प्रधानमंत्री जसिंदा अर्डेन के रुख की भी उन्हाेंने प्रशंसा की।

उन्होंने कहा, “हमें बात करने की ज़रूरत है। हमें कश्मीरियों से बात करने की ज़रूरत है। हम अंततः पाकिस्तान से भी बात करने की जरूरत है। वहां कोई और नहीं है रास्ता।  उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपने कार्यकाल के दौरान पाकिस्तान के साथ शांति संधि पर हस्ताक्षर करने के काफी करीब पहुंच गए थे।

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से भरी गाड़ी को सीआरपीएफ के काफिले से टकरा दिया था। इस घटना में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को बालाकोट स्थित आंतकी कैंपों पर बमबारी करके उन्हें ध्वस्त कर दिया था। जिसमें लगभग 300-350 आतंकवादी मारे गए थे।

विज्ञापन