नई दिल्ली. सिविल सर्वेंट से राजनेता बनने वाले पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल (Shah Faisal) के बारे में कयास लगाया जा रहा है कि वह प्रशासन में वापस शामिल हो सकते है। बताया जा रहा है कि अधिकारियों ने उन्हें बताया है कि उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था।

शाह फैसल ने रविवार को अपने ट्विटर परिचय में लिखे जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट के अध्यक्ष के पदनाम को भी हटा दिया है। अपने ट्विटर बायो पर रविवार शाम को लिखा, “एडवर्ड एस फेलो, एचकेएस हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, मेडिको, फुलब्राइट, सेंटट्रिस्ट”

शाह फैसल ने साल 2010 की सिविल सेवा परीक्षा में टॉप किया था और उन्हें IAS का होम कैडर आवंटित किया गया था। एक ईमानदार अधिकारी के रूप में लोकप्रिय फैसल ने 2018 में राजनीति में शामिल होने के लिए प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया था।

उन्होने जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट नाम से एक राजनीति तंजीम का गठन किया था। सूत्रों का यह भी कहना है कि हाल ही में उन्हें यह महसूस कराया गया कि उनके सिविल सेवा में वापस शामिल होने से सरकार को कोई ऐतराज नहीं है।अगर शाह फैसल वापस प्रशासनिक सेवा में शामिल होते हैं, तो वह जम्मू और कश्मीर में सबसे कम राजनीतिक कैरियर के लिए एक और रिकॉर्ड बनाएंगे।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन