बार्क (BARC) के पूर्व सीईओ पार्थो दास गुप्ता को अचानक तबीयत बिगड़ने पर मुंबई के जेजे अस्पताल में भर्ती किया गया है। दासगुप्ता कथित टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट (TRP) घोटाले में आरोपी हैं। हाल ही में उनकी रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ व्हाट्सएप चैट वायरल हुई थी। फिलहाल उन्हें आईसीयू में ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।

दासगुप्ता को पिछले साल 24 दिसंबर को मुंबई पुलिस की अपराध शाखा द्वारा कथित टीआरपी धांधली घोटाले में गिरफ्तार किया गया था। वह BARC के उस समूह का हिस्सा थे जिसने रिपब्लिक भारत न्यूज चैनल को टेलीविजन रैंकिंग में शीर्ष चैनल के रूप में दिखाने के लिए TRP में हेरफेर की थी।

उनकी पत्नी सम्राज्नी दासगुप्ता के मुताबिक, डॉक्टर्स की देखरेख में आज सुबह उन्हें आईसीयू में शिफ्ट किया गया। उन्होंने बताया, ‘पार्थो किसी भी वॉयस कमांड का जवाब नहीं दे पा रहे हैं और न ही कुछ बोल पा रहे हैं। वह ब्लड शुगर के मरीज हैं और उनका ब्लड प्रेशर भी घट-बढ़ रहा है। हमें आज सुबह ही उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी गई थी। उनकी हालत नाजुक है।’

इसी बीच टीआरपी घोटाला मामले में मुंबई पुलिस द्वारा 11 जनवरी को दायर एक पूरक आरोप पत्र में रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी और दासगुप्ता के बीच कथित व्हाट्सएप के 200 से अधिक पृष्ठ हैं, जो कथित तौर अर्नब गोस्वामी के साथ उनकी कथित निकटता दिखाते हैं।

पुलिस ने आरोप लगाया है कि गोस्वामी ने दासगुप्ता को पैसे का भुगतान किया था ताकि दोनों रिपब्लिक चैनलों के लिए समाचार खंड में सबसे अधिक टीआरपी दिखाई जा सके।