पूर्व असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (एसीपी) इकबाल सिंह ने रिपब्लिक टीवी चैनल के पत्रकार अर्नब गोस्वामी के खिलाफ सिटी सिविल कोर्ट में अर्जी लगाई है। जिसमे उन्होने टीआरपी घोटाले से संबंधित सामग्रियों के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग की।

वकील आभा सिंह के माध्यम से दायर किए गए अर्जी में मुंबई पुलिस की प्रतिष्ठा खराब करने का आरोप लगाते हुए पांच लाख रुपये मुआवजा की भी मांग की गई है।  इस मामले पर बुधवार को सुनवाई हो सकती है। अर्जी में प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के दिशा निर्देशों का भी हवाला दिया गया है, जिसके मुताबिक एक ही व्यक्ति चैनल का मालिक व संपादक नहीं हो सकता है।

आभा सिंह की तरफ से दायर इस मानहानि के मुकदमें में यह आरोप लगाया गया है कि “जब एक मामला वैधानिक प्रावधानों के तहत जांच के अधीन है, बचाव पक्ष नंबर-1 (गोस्वामी) को यह छूट नहीं दी जा सकती है कि वे अपने ही केस के बारे में अपने ही चैनल पर बहस कर मुंबई पुलिस को बदनाम करे।”

शेख ने यह आरोप लगाया है कि गोस्वामी डिबेट्स और स्टोरी का प्रसारण कर रहे हैं, जिससे केस की जांच प्रभावित हो सकती है। मुकदमे में कहा गया- “वादी ने कहा कि प्रतिवादी नंबर 1 ने दो लोकप्रिय चैनल के मालिक होने के नाते अपनी सीमाओं को पार किया है और एक संवैधानिक निकाय के द्वारी जांच किए जा रहे केस को एडिटर-इन-चीफ के तौर पर बड़े धर्मोपदेशों से धुंधला कर स्वंय के अपना एजेंडा शुरू कर दिया है।”

वकील सिंह के मुताबिक, अर्नब चैनल के मालिक व संपादक दोनों हैं। वे अपने बचाव में सफाई देने के लिए चैनल का इस्तेमाल कर रहे हैं जो कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के लिए ठीक नहीं है। बता दें कि टीआरपी स्कैम में मुंबई पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano