Sunday, August 1, 2021

 

 

 

वर्ल्ड बैंक ने भारत के GDP ग्रोथ रेट अनुमान में की कटौती, बांग्लादेश से भी पीछे रहेगा

- Advertisement -
- Advertisement -

विश्व बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाकर मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। आर्थिक मोर्चे पर नाकाम मोदी सरकार के लिए यह एक बुरी खबर है। जो सरकार के 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के सपने को चकनाचूर कर सकती है।

दरअसल, विश्व बैंक ने कहा है कि वित्त वर्ष 2019-2020 में भारत की जीडीपी में बढ़त दर सिर्फ पांच फीसदी रह सकती है। लेकिन अगले वित्त वर्ष में भारत के जीडीपी में विश्व बैंक ने 5.8 फीसदी बढ़त का अनुमान जताया है। यह वर्ल्ड बैंक के अनुमान में बड़ी कटौती है। इससे पहले अक्तूबर माह में विश्व बैंक ने कहा था कि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए भारत के जीडीपी में छह फीसदी की ग्रोथ हो सकती है।

ग्लोबल इकोनॉमिक प्रोस्पेक्ट्स रिपोर्ट में विश्व बैंक ने कहा कि, ‘भारत में गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों का कर्ज वितरण कमजोर बना हुआ है।’ साथ ही विश्व बैंक ने यह भी कहा कि भारत से तेज बढ़त दर बांग्लादेश की होगी। बांग्लादेश में इस वित्त वर्ष में जीडीपी में सात फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी हो सकती है।

इसके पहले भारत सरकार के केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO) द्वारा जारी पूर्वानुमान में भी कहा गया है कि इस वित्त वर्ष में देश की जीडीपी में महज 5 फीसदी की बढ़त होगी। मंगलवार को केंद्र सरकार की ओर से जीडीपी के पूर्वानुमान के आंकड़े पेश किए गए थे।

आकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ सिर्फ 5 प्रतिशत रह सकती है। इससे पहले 2018-19 में वास्तविक ग्रोथ 6.8 प्रतिशथ रही थी। वित्त वर्ष 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ 7.2 प्रतिशत थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles