Thursday, June 24, 2021

 

 

 

इस्लाम को आतंक से जोड़ने पर संजीव पब्लिशर के खिलाफ एफआईआर दर्ज, विधानसभा में उठा मामला

- Advertisement -
- Advertisement -

राजस्थान की राजधानी जयपुर में 12 कक्षा की अपनी पुस्तक में इस्लाम को आतंकवाद से जोड़ने के मामले में संजीव पब्लिशर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में मुस्लिम समुदाय के लोगों में बड़ी नाराजगी है।

किताब में सवाल दिया गया कि इस्लामी आतंकवाद से आप क्या समझते है?

जिसका जवाब दिया गया: इस्लामी आतंकवाद इस्लाम का ही एक रूप है, जो विगत 20-30 वर्षों में अत्यधिक शक्तिशाली बन गया है। आतंकवादियों में किसी एक गुट विशेष के प्रति समर्पण का भाव नहीं होकर एक समुदाय विशेष के प्रति समर्पण भाव होता है। समुदाय के प्रति प्रतिबद्धता इस्लामिक आतंकवाद की मुख्य प्रवृत्ति है। पंथ या अल्लाह के नाम पर आत्मबलिदान और असीमित बर्बरता, ब्लैकमेल, जबरन धन वसूली, और निर्मम नृशंस हत्याएं करना ऐसे आतंकवाद की विशेषता बन गई है। जम्मू कश्मीर में आतंकवाद पूर्णतया धार्मिक व पृथकतावादी श्रेणी में आता है।

इस किताब का मामला विधानसभा में भी उठा। कांग्रेस विधायक रफीक खान ने विधानसभा में शून्यकाल में यह मामला उठाते हुए कहा कि इस मामले में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

तहरीक उलेमा ए हिन्द के प्रमुख मुफ़्ती खालिद अय्यूब मिस्बाही ने कहा कि इस्लाम धर्म और मुस्लिमों के खिलाफ एक साजिश के तहत नफरत फैलाई जा रही है। अब किताबो के जरिए ये कार्य किया जा रहा है। जिस पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए और ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles