केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने अपने ही स्पेशल ऑफिसर को घूसखोरी के मामले में आरोपी बनाया है। एक हाई प्रोफाइल घोटाले को दबाने के लिए ये घूस ली गई थी।

जानकारी के अनुसार, स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना का नाम बीते हफ्ते इस मामले में सामने आने के बाद उनके खिलाफ सीबीआई ने मंगलवार (16 अक्टूबर) को केस दर्ज कराया। एफआईआर में अस्थाना के अलावा देश की इंटेलिजेंस एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के स्पेशल डायरेक्टर समंत कुमार गोयल का नाम भी शामिल है।

पिछले दिनों सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने अपने ही डायरेक्टर आलोक वर्मा के खिलाफ सरकार से शिकायत कर दी थी जिसके बाद सीवीसी ने मामले की जांच शुरू कर दी थी। इसके बाद सीबीआई डायरेक्टर ने भी अपने नंबर दो के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे। राकेश अस्थाना ने सीवीसी को लिखे पत्र में अपने फंसाए जाने की भी आशंका जाहिर की थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bribe

सूत्रों के अनुसार, राकेश अस्थाना ने हैदराबाद के किसी शख्स का पत्र में जिक्र किया है। पत्र में लिखा कि सीबीआई डायरेक्टर ने उस व्यक्ति से 2 करोड़ रुपए की रिश्वत ली है। बता दें कि सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के बीच यह लड़ाई महीनों पहले से चल रही है।

खास बात है कि अस्थाना की अध्यक्षता वाली स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ही मोइन कुरेशी भ्रष्टाचार मामले में उस कारोबारी को लेकर पूर्व में जांच कर चुकी है।

Loading...