Thursday, October 28, 2021

 

 

 

एनएसए अजीत डोभाल का बड़ा बयान – अधिक डिजिटल भुगतान के कारण वित्तीय धोखाधड़ी बढ़ी

- Advertisement -
- Advertisement -

वित्तीय धोखाधड़ी मामले में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का बड़ा बयान आया है। उन्होने कहा कि डिजिटल लेनदेन पर निर्भरता के कारण वित्तीय धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढ़े हैं। डोभाल ने आगे कहा कि इसपर पूरी तरह से निर्भरता से आने वाले समय में वित्तीय धोखाधड़ी के केस में बढ़ोतरी होगी।

डोभाल ने शुक्रवार को केरल पुलिस की ओर डाटा प्राइवेसी व हैकिंग पर आयोजित कांफ्रेंस में कहा, कोरोना महामारी के कारण काम करने के माहौल में बदलाव आया है। डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म पर निर्भरता बढ़ी है।

उन्होंने कहा कि ऑनलाइन काफी डाटा शेयर हो रहा है और सोशल मीडिया की मौजूदगी भी लगातार बढ़ी जा रही है। जहां हम अपने ज्यादातर काम ऑनलाइन कर रहे हैं, ऐसे में हैकर भी इसे अपने लिए अवसर के तौर पर देख रहे हैं। सीमित सतर्कता के चलते साइबर अपराध में 500 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म पर अधिक निर्भरता के कारण वित्तीय धोखाधड़ी के मामलों में उछाल आया है।

एनएसए ने ये भी कहा, फर्जी खबरों और विभिन्न गलत सूचनाओं के चलते लोगों को फंसाया जाता है। साइबर स्पेस में मौजूद बड़ा साइबर डाटा सूचनाएं पाने के लिए सोने की खान जैसा है, जिसमें हमारे नागरिकों की निजता की अनदेखी की जा रही है। ऐसे में ऑनलाइन रहते समय लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।

अजीत डोभाल के इस बयान पर कांंग्रेस ने निशाना साधा है। कांंग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा ‘पहले इनके बॉस ने कहा कैशलेस, फिर कहा कम नकद और अब ये कह रहे हैं डिजिटल पेमेंट से धोखाधड़ी बढ़ रहा है, दरअसल 2016 में हुए नोटबंदी देश का सबसे बड़ा फ्रॉड था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles