पुणे | बुधवार को दिल्ली के रामजस कॉलेज में, ABVP और SFI के बीच हुई झड़प की आग, अब पुणे यूनिवर्सिटी तक पहुँच चुकी है. यहाँ शुक्रवार को दोनों छात्र संघ संगठनों के बीच खूब मारपीट हुई जिसमे कुछ छात्र घायल हो गए. इस मामले में दोनों ही छात्र गुटों की तरफ से पुलिस में शिकायत दर्ज की गयी जिसके बाद 9 छात्रों को गिरफ्तार किया गया है.

दरअसल शुक्रवार रात को स्टूडेंट फेडरेसन ऑफ़ इंडिया के कुछ कार्यकर्ता यूनिवर्सिटी परिसर की दीवारों पर पोस्टर लगा रहे थे. इसी बीच वहां ABVP संगठन से जुड़े कुछ कार्यकर्त्ता इकठ्ठा हो गए और दोनों संगठनो के बीच नोकझोंक शुरू हो गयी. नोकझोंक इतनी बढ़ी की नौबत मारपीट तक आ पहुंची. दोनों ही गुटों के बीच खूब मारपीट हुई जिसमे कुछ छात्र घायल हो गए.

इस मामले में ABVP और SFI , दोनों ही एक दुसरे पर आरोप लगा रहे है. SFI का कहना है की हम बीजेपी एम्एलसी प्रशांत परिचारक द्वारा भारतीय सेना पर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर 27 फरवरी को एक कार्यक्रम आयोजित कर रहे थे. इसी सिलसिले में छात्र संगठन से जुड़े लोग परिसर में पोस्टर लगा रहे थे. इसी दौरान वहां ABVP 25-30 लोग आ पहुंचे और हमारे साथ झड़प शुरू कर दी.

उधर ABVP का कहना है की SFI के लोग ABVP मुर्दाबाद के पोस्टर लगा रहे थे. जब हमने पोस्टर लगाने का विरोध किया तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी. फ़िलहाल दोनों ही पक्ष ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है जिस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने 9 छात्रों को गिरफ्तार किया है. इनमे 4 छात्र ABVP और 5 छात्र SFI के शामिल है. मालूम हो की बुधवार को दिल्ली के रामजस कॉलेज में उमर खालिद को बुलाने को लेकर SFI और ABVP में खूब झड़प हुई जिसमे पुलिस कर्मी सहित कई छात्र घायल हो गए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें