Monday, May 17, 2021

कोरोना से मरे पिता तो बेटे ने किया अंतिम संस्कार से मना, मुस्लिम शख्स ने आगे आकर किया दाह-संस्कार

- Advertisement -

बिहार के दरभंगा में एक बुजुर्ग पिता की कोरोना संक्रमण से मौत के बाद बेटे ने न केवल उनका अंतिम संस्कार से मना कर दिया बल्कि अस्पताल प्रशासन से शव लेने से भी इंकार कर दिया। यहां तक कि मृतक के घर, परिवार और समाज के लोग तक भी आगे नहीं आए।

ऐसे में इंसानियत को अपना पहला फर्ज समझते हुए कबीर सेवा संस्थान चलाने वाले मोहम्मद उमर सामने आए और उन्होने अपने चार पांच साथियों के साथ पीपीई किट पहन कर बुजुर्ग के शव का पूरे हिन्दू रीति रिवाज से देर रात दाह संस्कार किया।

शव के दाह संस्कार के बाद सभी लोगों ने खुद को होम आइसोलेशन में है और अपनी कोरोना जांच रिपोर्ट आने तक खुद को अलग रहने का फैसला किया है।

शव के दाह संस्कार के बाद होम आइसोलेशन में रह रहे मोहम्मद उमर ने वीडियो जारी कर बताया कि अपनी जांच रिपोर्ट आने तक खुद को क्वारंटीन में रहेंगे ताकि परिवार और समाज को इससे कोई खतरा न। इसके अलावा उन्होंने बताया कि कोरोना से डरने की कोई जरूरत नहीं बल्कि कोविड गाइडलाइन पालन कर इससे लड़ने की जरूरत है।

उमर ने यह भी बताया कि कोरोना डर के कारण बेटा ने अपना फर्ज नहीं निभाया लेकिन संस्था के लोगों ने मानव धर्म निभाया। खुद मुस्लिम होन का हवाला देते हुए कहा कि उसने न सिर्फ शव के दाह-संस्कार में बाहर से मदद की बल्कि अपने संस्थान के हिन्दू लोगों को इकट्ठा कर हिन्दू रीति रिवाज से ही शव का अंतिम संस्कार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles