दिल्ली हाईकोर्ट ने ज़ी न्यूज़ के शो ‘फतह का फ़तवा’ के खिलाफ दायर याचिका की सुनवाई करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को नोटिस जारी किया है. चीफ जस्टिस जी रोहिणी और जस्टिस संगीता धींगड़ा ने  मामले पर सुनवाई करते हुए यूनियन ऑफ इंडिया से इस संबंध में जवाब तलब किया है.

याचिकाकर्ता अधिवक्ता हिफ्ज़ुर्रह्मान खान की तरफ से एडवोकेट मोहम्मद फरहान खान और फ़रह हाशमी ने ज़ी न्यूज़ पर  प्रसारित किए जा रहे इस शो को देश की एकता के खिलाफ करार देते हुए कहा कि यह शो देश का माहौल बिगाड़ रहा है. इसलिए इसे तत्काल प्रभाव से बंद कर देना चाहिए.

हिफज़ुर रहमान खान के अनुसार, ज़ी न्यूज़ के इस प्रोग्राम को इस्लाम धर्म और उसकी पाक किताब कुरान और हदीस पर कीचड़ उछाला जा रहा. तारिक फतेह के इस विवादित कार्यक्रम में मदरसों, इस्लामी किताबों, औलिया अल्लाह को निशाना बनाकर उनका अपमान कर रहे हैं. शो में इस्लामी खलीफा सैयदना उमर बिन खत्ताब (रह.) का अपमान की किया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जस्टिस एंड डेवलपमेंट फ्रंट के राष्ट्रीय संयोजक मेहदी हसन एैनी कासमी के अनुसार, पिछले पांचों कार्यक्रमों में इस्लाम धर्म का सबसे ज्यादा अपमान किया गया हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से निर्वासित तारिक फतेह भारत में आकर सुनियोजित तरीके से इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश करके देशवासियों को आपस में लड़ाना चाहते हैं.

Loading...