केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ पंजाब में किसानों का विरोध थमने के नाम नहीं ले रहा है। अब किसानों ने बिल के विरोध में ‘रेल रोको’ आंदोलन शुरू कर दिया है। किसानों के विरोध को देखते हुए दो दिनों तक यानि 24 से 26 सितंबर तक रेलगाड़ियों की आवाजाही पर रोक लगा दी है।

इसके अलावा किसानों ने 25 सितंबर यानी शुक्रवार को राज्यव्यापी बंद का एलान किया है। इस वजह से फिरोजपुर रेल मंडल ने 14 ट्रेनें रद्द कर दी हैं। इसके बाद एक अक्टूबर से अनिश्चितकाल के लिए किसानों ने बंद का आह्वान किया है। अमृतसर के ग्रामीण इलाकों में किसान और उनके परिवार के सभी लोग, बच्चे-बूढ़े समेत आज सुबह में ही नजदीकी रेलवे ट्रैक पर जाकर बैठ गए।

किसान मजदूर संघर्ष समिति  के महासचिव सरवन सिंह पंढेर ने कहा, ‘‘हमने राज्य में कृषि से संबंधित विधेयकों के खिलाफ ‘रेल रोको’ आंदोलन करने का फैसला किया है।’’ वहीं क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने बताया कि पंजाब बंद को समर्थन देने वालों में मुख्य तौर पर भारती किसान यूनियन (क्रांतिकारी), कीर्ति किसान यूनियन, भारती किसान यूनियन (एकता उगराहां), भाकियू (दोआबा), भाकियू (लाखोवाल) और भाकियू (कादियां) आदि संगठन शामिल है।

इधर सरकार और प्रशासन ने भी बंद को लेकर पूरी तैयारी कर ली है। पुलिस-प्रशासन से साफ-साफ कहा गया है कि वे किसानों के प्रति नरम रवैया अपनाएं। किसान नेता भी शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील कर रहे हैं। प्रशासन की तरफ से मेडिकल सुविधा भी अलर्ट पर है।

वहीं रेलवे ने कहा है कि हरिद्वार-अमृतसर जन शताब्दी एक्सप्रेस, नई दिल्ली-जम्मू तवी-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, अमृतसर-हरिद्वार जन शातब्दी एक्सप्रेस, मुंबई सेंट्रल-अमृतसर गोल्डन टैम्पल मेल, अमृतसर-मुंबई सेंट्रल गोल्डन टैम्पल मेल आदि रूटों से जुड़ी कई ट्रेनों की लिस्ट साझा की है। रेलवे ने लिस्ट में आंदोलन के चलते दर्जनों कैंसल ट्रेन और रूट में बदलाव वाली ट्रेनों की जानकारी दी है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano