देश में अच्छे दिन का वादा कर सत्ता प्राप्त करने वाले प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने देश के किसानों के इतने बुरे दिन ला दिए कि उन्हें अब नग्न अवस्था में प्रदर्शन करना पड़ रहा हैं. लेकिन इसके बावजूद भी उनकी लिए कोई सुनने वाला नहीं हैं. सूखे और कर्ज से बेहाल तमिलनाडु के किसानों पिछले तीन सप्ताह से जंतर-मंतर पर अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं. ऐसे में आज उनका सब्र टूट गया. और वे प्रधानमंत्री कार्यालय की और नग्न अवस्था में दौड़ पड़े.

दरअसल सोमवार को यानि आज किसानों की मांगों को लेकर पीएमओ में बातचीत होनी थी. लेकिन पीएमओ के अधिकारियों से किसानों से बातचीत नहीं की. जिसके कारण किसान नग्न प्रदर्शन पर उतर आए. सुरक्षाकर्मियों की लाख कोशिशों के बावजूद भी किसान वहीं डटे रहे और नग्न प्रदर्शन जारी रखा.

हालांकि पीएमओ के पास कपड़े उतारकर प्रदर्शन करने पर किसानों को पुलिस ने तुरंत ही गिरफ्तार कर लिया. लेकिन कुछ किसान कपड़े उतारकर सड़क पर लोटने लगे, जिन्हें पुलिसवाले बाद में खींचकर ले गए. प्रदर्शन कर रहे के किसान ने कहा – “पीएम मोदी ने मिलने से इंकार कर दिया, इस लिए हमें यह कदम उठाना पड़ा. हमारे राज्य की दयनीय स्थिति को देखिए. हम यहां पीएम से ही मिलने आए थे, लेकिन उन्होंने मिलने नहीं दिय. हमारे पास और कोई चारा नहीं था.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि तमिलनाडु के कावेरी बेसिन के सूखा-पीड़ित किसान पिछले तीन हफ्तों से इंसानी खोपड़ियों के साथ दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं. हाल ही में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उनसे मुलाकात की थी.

Loading...