नई दिल्ली: केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Kisan Andolan) तेज होता ही जा रहा है। किसानों के निशाने पर अब केंद्र सरकार के साथ अंबानी और अडानी ग्रुप भी आ गया है। इन कार्पोरेट घरानों को सबक सिखाने के लिए अंबानी-अडानी कंपनियों का बायकाट करना शुरू कर दिया है।

पंजाब एवं हरियाणा के विभिन्न जिलों से किसानों की और से जियो टावर के बिजली कनेक्शन काटे जाने की खबरें आ रही हैं। हरियाणा के सिरसा सहित अन्य अनेक जिलों में ग्रामीण जियो टावर के बिजली कनेक्शन काटकर विरोध जता रहे हैं।  हालांकि, इन मामलों पर रिलायंस जियो की ओर से आधिकारिक तौर पर कोई टिप्प्णी नहीं की गई है।

पंजाब में भी किसानों के आंदोलन को समर्थन देने के लिए ग्राम पंचायत (Village Panchayat) की ओर से Jio मोबाइल टावर (Jio Mobile Towers) बंद किया जा रहे हैं। इससे संबंधित एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

गांव कटारियां में किसान संगठनों द्वारा जियो कंपनी के टावर का कनेक्शन काटकर मोदी सरकार व कार्पोरेट घरानों के विरोध में रोष जताया। बता दें कि हाल ही में रिलायंस जियो ने अपनी प्रतिद्वंदी टेलीकॉम कंपनियां- भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया लि. (वीआईएल) पर किसानों को गुमराह करने का भी आरोप लगाया था।

आरोप के मुताबिक एयरटेल और वीआईएल यह दावा कर रही हैं कि जियो के मोबाइल नंबर को उनके नेटवर्क पर पोर्ट करना किसान आंदोलन को समर्थन होगा। वहीं नए मोबाइल ग्राहक जोड़ने के मामले में एक बार फिर जियो को सुनील मित्तल की एयरटेल ने पछाड़ दिया है। यह लगातार दूसरा माह है जब जियो पीछे हुई है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano