नई दिल्ली | 8 नवम्बर 2016 के बाद पुरे देश में नए 2000 के नोटों की सप्लाई शुरू हो गयी. हालाँकि कैश की किल्लत लगातार बनी रही लेकिन जिसके पास भी यह नया नोट पहुंचा उसको काफी सुखद अहसास हुआ. इस दौरान कुछ लोगो ने 2000 के नए नोटों की स्कैन कॉपी भी मार्किट में चलानी चाही, जिसमे कुछ कामयाब हुए और कुछ पुलिस के हत्थे चढ़ गए. लेकिन अगर एटीएम से ऐसे नोट निकलने शुरू हो जाये तो किसको दोष दिया जाए.

एक ऐसी ही घटना दिल्ली के संगम विहार से सामने आई है. यहाँ एसबीआई के एक एटीएम् से 2000 के कई नकली नोट निकले. वैसे ये नोट दिखने में हुबहू असली नोटों के जैसे है. लेकिन इन नकली नोटों पर कुछ ऐसी चीजे लिखी हुई है जिसको देखकर हंसी भी आती है और यह स्पष्ट हो जाता है की ये नकली नोट है. इस बारे में जब पुलिस को सूचना दी गयी तो उन्होंने जांच करने के लिए एक सब इंस्पेक्टर को उस एटीएम पर भेजा.

दरअसल एक कॉल सेंटर में काम करने वाला रोहित, 6 फरवरी की शाम को पौने आठ बजे जब संगम विहार स्थिति एसबीआई एटीएम में 8 हजार निकालने पहुंचा. उसको एटीएम में से 4 , 2000 के नोट प्राप्त हुए. लेकिन वो तब हैरान रह गया जब उसने सभी 2000 के नोटों को नकली पाया. इन सभी नोटों पर रिज़र्व बैंक की जगह चिल्ड्रेन बैंक ऑफ़ इंडिया लिखा हुआ.

इसके अलावा रिज़र्व बैंक की सील की जगह, PK की सील लगी हुई थी. जहाँ अशोक चिन्ह बना होता है वहां चूरन लेबल लिखा हुआ था. धारक को वचन देने की जगह पर लिखा हुआ था की मैं धारक को 2000 कूपन देने का वचन देता हूँ. रोहित ने तुरंत इस मामले की शिकायत नजदीकी थाने में दर्ज कराई. मामले की जांच करने के लिए थाने से एक सब इंस्पेक्टर को उस एटीएम पर भेजा गया.

उस दौरान सब इंस्पेक्टर को वहां कोई ऐसा शख्स नही मिला जिसने इस बारे में शिकायत की हो. लेकिन वो तब हैरान रह गया जब उसने खुद एटीएम से 2000 का नोट निकाला. यह नोट भी नकली निकला. हालाँकि इसके बाद का कोई भी नोट नकली नही निकला. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 489-बी , 489-इ और 420 में मामला दर्ज किया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें