इलाहबाद: द्वारिका और ज्योतिर्पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद ने नोटबंदी को लेकर एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया हैं. उन्होंने कहा कि मोदी ने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए देश में नोटबंदी लागू की. जिसकी वजह से किसान से लेकर आम आदमी तक को खूब परेशान होना पड़ा.

शंकराचार्य ने नोटबंदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि मोदी ने नोटबंदी को लेकर बड़े- बड़े दावे किये थे लेकिन हकीकत यह है कि न तो नकली नोट कम हुए, न भ्रष्टाचार और आतंकवाद. उन्होंने इस फैसले को पूरी तरह देश विरोधी बताते हुए कहा, नोटबंदी से देश को काफी नुकसान हुआ है, जिसका खामियाजा लोगों को अगले तीन सालों तक भुगतना पड़ सकता है.

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए इस फैसले को लागू किया, क्योंकि मोदी सरकार द्वारा अनाप- शनाप टैक्स लगाने से देश के हालात बिगड़े थे. उन्होंने आम लोगों को भी मोदी भक्त होने के बजाय देशभक्त होने की नसीहत दी. उन्होंने आम जनता को भी नसीहत देते हुए कहा कि “उसे मोदीभक्त नहीं बल्कि देशभक्त बनना चाहिए.”

स्वरूपानंद ने पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा, वह सडकों पर आवारा घूमने वाले कुत्तों के लिए शौचालय क्यों नहीं बनवाते. उन्होंने ज़्यादातर सरकारी कर्मचारियों को भी भ्रष्ट व रिश्वतखोर करार दिया. उन्होंने कहा है कि अगर उन्हें सफाई की इतनी ही फ़िक्र है तो उन्होंने अब तक सड़कों पर आवारा घूमने वाले कुत्तों के लिए शौचालय क्यों नहीं बनवाए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें