bnvbn 1500586532 1500697407 835x547

bnvbn 1500586532 1500697407 835x547

पटना । केंद्र में मोदी सरकार बने लगभग चार साल हो चुके है। इन चार सालों में मोदी सरकार ने कई चौकाने वाले फ़ैसले लिए है। इनमे नोट बंदी और जीएसटी जैसे फ़ैसले शामिल है। इन फ़ैसलों से देश का एक बड़ा तबक़ा प्रभावित हुआ है इसलिए मोदी सरकार की आलोचना करने वालों की भी तादात बढ़ी है। ख़ासकर सोशल मीडिया पर मोदी सरकार की नीतियो की आलोचना करने वाले एक बड़ी संख्या में है।

इन्ही आलोचकों में से एक है किरण यादव। किरण यादव, फेसबुक सिलेब्रिटी के तौर पर जानी जाती है। इनके फ़ेस्बुक पर 11 लाख से अधिक फोलोवर है। हालाँकि न ये कोई राजनेता है और न ही किसी सिलेब्रिटी की बेटी। फिर भी लोग इनको पसंद करते है। ये अपनी फ़ेस्बुक पोस्ट के ज़रिए मोदी सरकार की नीतियो की लगातार आलोचना करती रही है। इनकी पोस्ट लोगों को पसंद आती है इसलिए लाखों लोग इनको फोलो भी करते है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लेकिन अब किरण यादव को भी मोदी सरकार की आलोचना करने की सज़ा मिलनी शुरू हो गयी है। किरण के अनुसार उनके पति को फ़ौज से निकाल दिया गया है। इसके लिए उन्होंने मोदी सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है की चूँकि वह मुखर होकर अपनी बातें लिखती है इसलिए उनको सज़ा दी जा रही है। किरण का आरोप है की मोदी सरकार के कहने पर उनके पति को फ़ौज से निकाल दिया गया।

इस बारे में बताते हुए उन्होंने फ़ेस्बुक पर एक पोस्ट लिखी है। इसमें उन्होंने बताया की 31 जनवरी को उनके पति को फ़ौज से निकाल दिया गया। किरण ने कहा की जब सरकार मेरा कुछ नही बिगाड़ सकी तो मेरे पति पर निशाना साधा गया। किरण ने अपील करते हुए कहा की चूँकि मैं किसी पार्टी की दलाल नही हूँ, अगर होती तो शायद अब तक हंगामा खड़ा हो जाता है, इसलिए मेरी गुज़ारिश है की आप मेरा साथ दे और मेरी आवाज़ उठाए।

पढ़े क्या लिखा किरण यादव ने