Wednesday, June 16, 2021

 

 

 

दिल्ली के प्रधान सचिव का सीबीआई पर आरोप, केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए बनाया दबाव

- Advertisement -
- Advertisement -

rajendra-kumar-story_647_070416061349नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार ने सीबीआई पर गंभीर आरोप लगाते हुए वालंटरी रिटायरमेंट की मांग की है. राजेंद्र कुमार ने एक पत्र जारी कर कहा की सीबीआई ने उन पर केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव बनाया. राजेंद्र ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा की मुझे जानबूझकर फंसाया जा रहा है.

केजरीवाल की 49 दिन और वर्तमान सरकार में प्रधान सचिव रहे राजेंद्र कुमार ने 12 पेज का पत्र लिख सीबीआई पर आरोप लगाया की उन्होंने मुझे छोड़ने के एवज में मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ बयान देने का दबाव बनाया. उन्होंने मेरे अलावा कई और लोगो पर केजरीवाल को फंसाने का दबाव बनाया. यही नही इसके लिए कुछ लोगो की पिटाई भी की गयी.

राजेंद्र कुमार ने आगे लिखा की सीबीआई ने मुझसे जबरन मेरी मेल का एक्सेस लिया और धमकी दी. मुझे केंद्र और राज्य सरकार के झगडे में मोहरे की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है. सीबीआई उन्हें झूठे मामले में फंसा रही है. मुझे 2008 में जनसेवा में योगदान के लिए प्रधानमंत्री अवार्ड दिया गया. अब मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है.

राजेंद्र ने सीबीआई पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशो का उलंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा की उन्होंने अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट के आदेशो का उलंघन करते हुए मेरा निलंबन 180 दिन के लिए आगे बढ़ा दिया. पहले मुझे इस सिस्टम पर बहुत यकीन था. क्योकि इसी सिस्टम से एक गरीब परिवार का लड़का ,सिविल सर्विसेज एग्जाम में सफलता पाकर आईएएस बन सकता है लेकिन आज हालात बदल चुके है.

मालूम हो की सीबीआई ने पिछले साल जुलाई में राजेंद्र कुमार को भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. इसके अलावा उनसे कई महीनो तक पूछताछ की गयी. राजेंद्र पर शीला दीक्षित कार्यकाल में भ्रष्टाचार के आरोप थे. केजरीवाल ने पहले 49 दिन की सरकार में और बाद में भी राजेंद्र को अपना प्रधान सचिव नियुक्त किया था. चूँकि दोनों आईआईटी से इंजिनियर है इसलिए राजेंद्र , केजरीवाल के काफी भरोसेमदं अधिकारी माने जाते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles