निर्वाचन आयोग ने चुनाव नतीजों को लेकर एक नई एडवायजरी जारी की है. जिसके अनुसार अब मीडिया में चुनावी प्रक्रिया के दौरान नतीजों पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने पर रोक लगा दी हैं.

चुनाव आयोग ने ज्योतिषी, टैरो कार्ड रीडर्स या फिर राजनीतिक पंडित की ओर से भविष्यवाणी करने और अनुमान जताने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है. साथ ही ज्योतिषी, कार्ड या किसी एक्सपर्ट की मदद से भी प्रतिबंधित समय में चुनाव परिणाम के बारे में संकेत देने को उल्लंघन करार दिया हैं.

गुरुवार को निर्देश में चुनाव आयोग ने बताया कि पिछले 5 राज्यों के चुनाव के दौरान इस मानक का उल्लंघन किया गया था. साथ ही आयोग ने कहा कि  भविष्य में अगर दोबारा ऐसा होता है तो फिर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.  चुनाव आयोग ने कहा है कि इस तरह की भविष्यवाणी या अनुमान जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 126 ए की भावना के खिलाफ है.

याद रहे यूपी में चुनाव के दौरान जागरण अखबार में अग्जिट पोल प्रकाशित किये गए जाने पर चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघ मानते हुए संपादक के खिलाफ कार्रवाई भी की थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?