यूपी की कैराना, नूरपुर और महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया में सोमवार को हुई उपचुनाव की वोटिंग के दौरान कई EVM के खराब होने की खबरे सामने आई. जिसकी पुष्टि चुनाव आयोग ने भी की.

चुनाव आयोग ने EVM के खराब होने की वजह भीषण गर्मी को भी बताया. चुनाव आयोग का कहना है कि प्रचंड गर्मी के कारण ईवीएम मशीनों के सेंसर में खराबी आई. बता दें की EVM में खराबी के चलते कई पार्टियों ने चुनाव रद्द करने की मांग की है.

आयोग ने कहा कि मशीनों को ठीक करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा, खराब ईवीएम और वीवीपैट से निपटने के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रक्रिया है. इन चीजों से निपटने के लिए इंजीनियर देख रहे हैं और उस हिसाब से काम कर रहे हैं जैसे- ईवीएम को रिप्लेस किया जाना.

महाराष्ट्र के भंडारा गोंदिया में जिला मजिस्ट्रेट अभिमन्यू काले ने कहा कि खराब मशीनों के चलते वोटिंग को 35 मतदान केन्द्रों पर सस्पेंड कर दिया गया है. कैराना संसदीय क्षेत्र में आने वाले शामली के डीएम इंद्र विक्रम सिंह के मुताबिक तेज गर्मी के कारण वीवीपैट मशीनों के सेंसर में गड़बड़ी आ रही है. टेक्निकल अफसर उसे ठीक कर रहे हैं.

वहीँ झारखंड के सिल्ली विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए मतदान के दौरान भी कुछ बूथों से मतदान में रूकावट की शिकायत आयी है. साथ ही कुछ बूथों पर ईवीएम खराब होने की खबर भी आयी है.

सिल्ली स्थित मूरी में एसडीएम अंजली यादव ने बताया कि मतदान केंद्र से 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है. उन्होंने बताया कि जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है वह बूथ पर अनाधिकार प्रवेश कर रहे थे. साथ ही पार्टी के पक्ष में प्रचार कर रहे थे.

सुदेश महतो ने इस मामले में एसडीएम पर आरोप लगाया है. उनका कहना है कि एसडीएम ने पोलिंग बूथ एजेंट और वोटरों पर लाठीचार्ज करवाया है. और हमारे 4 लोगों को हिरासत में ले लिया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?