मीडिया में चल रही रिपोर्टो का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश के भिंड में जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश देते हुए VVPAT पर पुरे मामलें की विस्तृत रिपोर्ट तलब की हैं.

दरअसल, भिंड में अगले सप्ताह उपचुनाव होना है. ऐसे में चुनाव की तैयारी की जा रही हैं. इसी बीच खबर आई कि  एक अभ्‍यास  कार्यक्रम के दौरान वीवीपीएटी से केवल भाजपा के निशान वाली पर्चियां ही निकली. आयोग के एक प्रवक्ता कहा,”हमने जिला निर्वाचन अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है और शाम तक हम इस संबंध में कोई जवाब देंगे.”

दरअसल. मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि अभ्‍यास के दौरान किसी भी पार्टी और उम्मीदवार के निशाना पर बटन दबाया गया तो उससे निकली बीजेपी की ही पर्ची निकली. यानि सारे वोट बीजेपी उम्मीदवार के खातें में डले. इसके साथ ही  मध्य प्रदेश की मुख्य चुनाव अधिकारी सलीना सिंह धमकाते हुए भी देखा गया कि यह न्यूज नहीं देने वर्ना उन्हें पुलिस थाने में हिरासत में रखा जाएगा यह कहते देखा गया था.

क्या हैं वीवीपीएटी ?

वीवीपीएटी एक ऐसी मशीन होती है जिससे निकली पर्ची यह दिखाती है कि मतदाता ने किस पार्टी को वोट दिया है. मतदाता केवल सात सेकंड तक इस पर्ची को देख सकता है. इसके बाद यह एक डिब्बे में गिर जाती है और मतदाता इसे अपने साथ नहीं ले जा सकता.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?