नई दिल्ली | दिल्ली में 23 अप्रैल को हुए नगर निगम चुनावो में बीजेपी की बम्पर जीत दिखाना दो निजी चैनल के लिए मुसीबत का सबब बन गया है. चुनाव आयोग ने दोनों चैनल को नोटिस भेज जवाब माँगा है. चुनाव आयोग ने यह कदम कांग्रेस की एक शिकायत पर उठाया है जिसमे चुनावो से पहले सर्वो का प्रसारण करना गैर क़ानूनी बताते हुए कार्यवाही की मांग की गयी है.

सोमवार को चुनाव आयोग ने कांग्रेस की शिकायत का संज्ञान लेते हुए बताया की दो निजी चैनल एबीपी और टाइम्स नाउ को नोटिस भेजा गया है. दोनों ही चैनल ने चुनाव संपन्न होने से 48 घंटे पहले सर्वो का प्रसारण कर आदर्श चुनाव संहिता का उलंघन किया है. मालूम हो की एबीपी और टाइम्स नाउ ने चुनाव से ठीक पहले एक ओपिनियन पोल प्रसारित किया था जिसमे बीजेपी की बम्पर जीत होने का दावा किया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी मामले में कांग्रेस ने शनिवार को चुनाव आयोग को एक शिकायत पत्र भेजते हुए दोनों चैनल के खिलाफ कार्यवाही करने की अपील की. कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शर्मिष्ठा मुख़र्जी और अमन पंवार ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में कहा की इस तरह चुनावो से कुछ समय पहले सर्वे प्रसारित करना कानून के खिलाफ है. यह चुनाव आयोग की निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से चुनाव कराने की प्रतिबद्धता को भी धक्का पहुंचता है.

हालाँकि राज्य निर्वाचन आयुक्त एस के श्रीवास्तव ने कहा की उन्होंने इस मामले का स्वतः ही संज्ञान लिया है और बिना किसी शिकायत मिलने का इन्तजार किये दोनों चैनल को नोटिस भेजा गया है. हमने नोटिस में पुछा है की आखिर आपने आदर्श चुनाव संहिता का उलंघन क्यों किया? मालूम हो की एबीपी और इंडिया टुडे ने चुनाव संपन्न होने के बाद भी एग्जिट पोल प्रसारित किये थे जिसमे बीजेपी को 272 में से 220 सीटे मिलने का अनुमान लगाया गया था.

Loading...