Friday, June 18, 2021

 

 

 

दक्षिणपंथियों के हमले में आठ ईसाई बुरी तरह से घायल, अस्पताल में हुए भर्ती

- Advertisement -
- Advertisement -

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में 8 मार्च को एक घर के चर्च में प्रार्थना करते समय हिंदुत्व चरमपंथियों ने ईसाईयों पर कुल्हाड़ियों, पत्थरों और लकड़ी के डंडों से हमला किया। हमले में कई लोग घायल हो गए, जिनमें आठ गंभीर रूप से घायल हो गए और अस्पताल में भर्ती है। इंटरनेशनल क्रिश्चियन कन्सर्न (आईसीसी) नामक संस्था ने ये जानकारी दी।

घटना के दौरान चरमपंथियों ने ईसाईयों से जुड़ी एक मोटरसाइकिल और कई साइकिलें भी जला दीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एंडो गुड्डी नाम के एक स्थानीय कट्टरपंथी नेता के नेतृत्व में 30 लोगो की भीड़ ने एक चर्च पर हमला किया। जहां 8 मार्च को पूजा के लिए 150 से अधिक ईसाई एकत्र हुए थे। भीड़ ने दावा किया कि ये लोग अवैध धर्म परिवर्तन कराने में शामिल थे।

एक स्थानीय ईसाई ने आईसीसी को बताया, “स्थानीय राजनेताओं द्वारा धार्मिक लकीर पर लोगों को बांटने की कोशिश की जा रही है, और इस क्षेत्र में इस तरह की यह पहली घटना नहीं है।” “पुलिस और प्रशासन भी स्थानीय ईसाइयों की मदद नहीं करते हैं क्योंकि वे एफआईआर भी दर्ज नहीं करते हैं।”

हमले में गंभीर रूप से घायल हुए ईसाईयों में से एक पादरी सैमसन भागेल पिछले 11 वर्षों से बस्तर जिले में 13 मंडलियों का नेतृत्व कर रहे हैं। हमले के बाद, स्थानीय ईसाई समुदाय भय और असुरक्षा की भावना से ग्रस्त हो गया है।

पास्टर भागेल की पत्नी, दुरस्थ भागेल ने आईसीसी को बताया, “यह बहुत बुरा है जो मेरे पति और अन्य ईसाइयों के साथ हुआ।” “हमने कभी भी इस तरह की कठिन स्थिति का अनुभव नहीं किया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles