Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

ED ने जाकिर नाईक की करोड़ों की संपत्ति की जब्त

- Advertisement -
विवादित सलाफ़ी प्रचारक जाकिर नाईक के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने धन शोधन निरोधक अधिनियम (PMLA) के तहत बड़ी कार्रवाई करते हुए 16 करोड़ 40 लाख की संपत्ति जब्त की है। जाकिर नाईक की ये जायदाद मुंबई और पुणे में स्थित है। जाकिर नाइक मामले में यह तीसरी संपत्ति कुर्की है। ईडी इस मामले में अब तक कुल 50.49 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क कर चुका है। ईडी ने मुंबई में फातिमा हाइट्स और आफिया हाइट्स के रूप में संपत्तियों की पहचान की। ये संपत्तियां मुंबई शहर के भांडुप क्षेत्र में एक अनाम परियोजना के रूप में हैं और दूसरी परियोजना पुणे में एंग्रेसिया नाम की है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बताया कि अचल संपत्तियों का अनुमानित मूल्य 16.40 करोड़ रुपये है। ईडी ने इस मामले में तीसरी कुर्की की है। इन संपत्तियों का मूल और वास्तविक स्वामित्व को छिपाने के लिए नाइक के बैंक खाते से किए गए प्रारंभिक भुगतानों को उनकी पत्नी, बेटे और भतीजी के खातों में वापस कर दिया गया और नाइक के बजाय परिवार के सदस्यों का नाम बुकिंग करने के उद्देश्य से फिर से भेजा गया। बता दें कि ED ने जाकिर नाईक के खिलाफ जांच की शुरुआत NIA द्वारा 26 अक्टूबर 2017 को मुंबई के स्पेशल कोर्ट के सामने दाखिल चार्जशीट के आधार पर की थी। NIA चार्जशीट के अनुसार पर जाकिर नाईक पर आरोप है कि उसने जानबूझकर हिन्दू, ईसाई और गैर वहाबी मुसलमानों की धार्मिक मान्यताओं को चोट पहुंचाई। नाइक फिलहाल मलेशिया में है। भारत भगोड़े धार्मिक उपदेशक को प्रत्‍यर्पित कर देश लाने की कोशिशों में जुटा है। जाकिर नाइक को लेकर कुछ महीने पहले इंटरपोल की एक बैठक भी हुई थी, जिसमें सीबीआई और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के आला अधिकारियों ने नाइक के खिलाफ मजबूत साक्ष्य और दस्तावेज पेश किए थे।
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles