प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के देश भर के 26 ठिकानों पर छापे मार कार्रवाई की है। जिसमें पॉपुलर फ्रंट (PFI) के नेशनल चेयरमैन ओएम अब्दुल सलाम और केरल के प्रदेश अध्यक्ष नसरुद्दीन एलारोम के ठिकाने भी शामिल रहे।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु, कर्नाटक, बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, दिल्ली और केरल के मलप्पुरम और तिरुवनंतपुरम जिलों में ईडी की और से छापेमारी की गई। इस छापेमारी का मकसद पीएफआई और उससे संबंधित लोगों के खिलाफ धन शोधन के विभिन्न मामलों में जारी जांच के तहत सबूत एकत्र करना है।

वहीं जयपुर में ईडी की टीम ने आज पीएफआई के दफ्तर पर रेड की। करीब 5 घंटे चली इस कार्रवाई के बाद ईडी की टीम पीएफआई के ऑफिस से रवाना हुई। इसके बाद पीएफआई के कार्यकर्ताओं ने जयपुर में जमकर नारेबाजी की। बता दें कि इस साल फरवरी में दिल्ली में हुए दंगों और कई अन्य घटनाओं को भड़काने के आरोपों के संबंध में पीएफआई के खिलाफ जांच जारी है।

इस सबंध में पीएफ़आई ने कहा, ईडी पीएफआई के नेताओं के आवासों पर छापे मारती है। यह किसानों के मुद्दे से ध्यान भटकाने और भाजपा सरकार की नाकामी को छिपाने की घृणित कोशिश है। उसने कहा, संवैधानिक संस्थाओं को राजनीतिक उपकरणों की तरह इस्तेमाल करने का एक और उदाहरण। इस प्रकार के कदम हमें न्याय के लिए आवाज उठाने से नहीं रोक सकते या अधिकारों की लोकतांत्रिक लड़ाई को कमजोर नहीं कर सकते।

एजेंसी ने पिछले महीने ट्वीट किया था, ईडी पीएफआई के पदाधिकारियों के पास से बरामद कुछ ठोस साक्ष्यों के आधार पर पीएफआई और भीम आर्मी के बीच वित्तीय जुड़ाव की जांच कर रहा है। भीम आर्मी का कहना है कि वह किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार है। भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano