नई दिल्ली | पंजाब में उम्मीदों के अनुरूप नतीजे नही आने से निराश आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग से मिलकर ईवीएम् में कथित छेड़छाड़ होने का अंदेशा जाहिर किया है. हालाँकि चुनाव आयोग स्पष्ट कर चूका है की ईवीएम् में छेड़छाड़ संभव नही है और हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव पूरी पारदर्शिता और निष्पक्षता के साथ कराये गए है. लेकिन कुछ दिन पहले मध्य प्रदेश के भिंड से सामने आई एक विडियो ने इस बहस को एक बार फिर जिन्दा कर दिया है.

मध्य प्रदेश के भिंड में चुनाव आयुक्त की मौजूदगी में ईवीएम् में गड़बड़ी सामने आई है. इस दौरान की कुछ विडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने चुनाव आयोग से मुलाकात की. उन्होंने ईवीएम् मशीनो की विस्तृत जांच की मांग करते हुए कहा की आगामी चुनावो बैलेट पेपर के जरिये होने चाहिए. अब चुनाव आयोग ने इस पर बेहद ही चौकाने वाला बयान दिया है.

चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी को नसीहत देते हुए कहा की ईवीएम् मशीनो में कोई गड़बड़ी नही है. सभी चुनाव निष्पक्ष तरीके से संपन्न हुए है. इसलिए ‘आप’ को अपनी हार का ठीकरा ईवीएम् पर थोपने की बजाय आत्मनिरिक्षण करना चाहिए की आखिर वो चुनावो में अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन क्यों नही कर पाए. इसके अलावा चुनाव आयोग ने ‘आप’ की पेपर ट्रेल के डाटा के साथ वोटो को सत्यापित करने की मांग को भी ठुकरा दिया.

चुनाव आयोग ने कहा की अगर आपको वो डाटा सत्यापित कराना है तो इसके लिए आप राज्य के उच्च न्यायलय में याचिका दाखिल करने के लिए स्वतंत्र है. उधर चुनाव आयोग की प्रतिक्रिया को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ‘आप’ ने कहा की यह दुर्भाग्यपूर्ण है की चुनाव आयोग ईवीएम् छेड़छड मामले में जांच या कार्यवाही करने की बजाय राजनितिक बयानबाजी कर रहा है. जबकि भिंड की घटना ने पुरे देश को हिलाकर रख दिया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?