Thursday, October 21, 2021

 

 

 

ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों के बीच चुनाव आयोग ने लिया ये फैसला

- Advertisement -
- Advertisement -

jyo1

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनावों में भाजपा की बड़ी जीत के बाद विपक्ष ने एक बार फिर से ईवीएम मशीनों में छेड़छाड़ के आरोप लगाये है. ऐसे में अब चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लेने को मजबूर हुआ है.

गुजरात में विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि  वह प्रत्येक 182 विधानसाभाओं के किसी एक पोलिंग स्टेशन पर अचानक किसी मशीन का वोट की गिनती करेगा. साथ ही इस दौरान वोटर वैरिएबल पेपर ट्रेल ‘वीवीपैट’ की स्लिप की भी काउंटिंग होगी.

मुख्य चुनाव आयुक्त ए. के. ज्योति ने कहा कि, ‘ईवीएम और वीवीपैट सिस्टम में लोगों का भरोसा बनाए रखने के लिए हमने यह निर्णय लिया है कि हम हर एक विधानसभा में किसी एक पोलिंग स्टेशन की वोटिंग मशीन में एकाएक वोटों की गिनती और वीवीपैट वोट स्लिप की गिनती करेंगे.’

इसके अलावा मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा, ‘इससे पहले गोवा चुनावों में कुछ प्रत्याशियों ने आपत्तियां दर्ज की थी जिसके बाद चार पोलिंग स्टेशनों पर वीवीपैट स्लिप की गिनती की गई थी. यह गिनती मशीन की कंट्रोल यूनिट से 100 पर्सेंट मिल गई थी.’

यूपी के निकाय चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों पर आयोग ने कहा, निकाय चुनाव संबंधित राज्यों के राज्य चुनाव आयोगों द्वारा कराए जाते हैं. केंद्रीय चुनाव आयोग ने यूपी के निकाय चुनाव नहीं कराए हैं. मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा, उन्होंने M1 टाइप की ईवीएम का इस्तेमाल किया है जबकि हम चुनावों में उससे कहीं अडवांस M2 टाइप की ईवीएम का इस्तेमाल करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles