ram-madir

मुंबई | अगर आप यह सोच रहे है की अयोध्या में राम मंदिर बनकर तैयार हो गया है तो आप बेहद गलत सोच रहे है. हम अयोध्या के राम मंदिर की नही बल्कि मुंबई के राम मंदिर स्टेशन की बात कर रहे है. जी हां, मुंबई में एक नया रेलवे स्टेशन ‘राम मंदिर स्टेशन’ बनकर तैयार हो गया. लेकिन इसके उदघाटन के मौके पर शिवसेना और बीजेपी नेताओ की बीच इसका श्रेय लेने की होड़ मची रही जिससे शिवसेना के नेता झल्ला गए.

हुआ यूँ की राम मंदिर स्टेशन के उद्घाटन के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभु को बुलाया गया. उनके अलावा प्रदेश के परिवहन मंत्री और शिवसेना के नेता दिवाकर रावते भी वहां मौजूद थे. उदघाटन स्थल पर बीजेपी और शिवसेना के कार्यकर्त्ता काफी संख्या में होने की वजह से दोनों दलों के कार्यकर्ताओ के बीच हंगामा शुरू हो गया. दोनों दल इस स्टेशन के बनने का श्रेय खुद लेना चाहते थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी बीच जैसे ही दिवाकर रावते बोलने के लिए मंच पर चढ़े ,दोनों दलों के कार्यकर्त्ता नारेबाजी पर उतर आये. एक तरफ बीजेपी और दूसरी तरफ शिवसेना कार्यकर्त्ता , अपने अपने नेता की जयघोष करने लगे. बीच बीच में जय श्री राम के नारे भी लग रहे थे. इस सब से दिवाकर के सब्र का बंद टूट गया और वो सुरेश प्रभु और अन्य नेताओं की तरफ देखते हुए, बड़े तल्ख़ अंदाज में चीख पड़े.

दिवाकर ने चिल्लाते हुए कहा की मोदी जी राम से बड़े नही है. आपको मोदी जी की सभा होने देनी है या नही? मालूम हो की शनिवार को मुंबई में मोदी की सभा होनी है. उनके इस रुख से उद्घाटन स्थल पर हलचल मच गयी. आनन फानन में रेल मंत्रालय के अधिकारियो और कुछ नेताओं ने स्थिति को सँभालने की कोशिश की. इसी हंगामे के बीच ही स्टेशन का उद्घाटन किया गया. मालूम हो की पश्चिम रेल के जोगेश्वरी और गोरेगांव के बीच यह नया स्टेशन बना है.

Loading...