राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर पीट-पीट कर की गई पहलू खान की हत्या के बाद उनके ड्राईवर ने अपना मवेशी पहुंचाने का पुराना काम छोड़ सब्जी का नया काम शुरू कर दिया है.

23 वर्षीय अर्जुन कुमार यादव ही वहीँ शख्स है. जिनके वाहन में पहलू खान डेयरी के लिए जयपुर से दुधारू गाय खरीद कर उनके गाँव ले जा रहे थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरक्षकों के डर से मवेशी पहुंचाने का काम छोड़ने के बाद अर्जुन को हर महीने 10,000 रुपयों का नुकसान हो रहा है. आर्थिक नुकसान पर उनका कहना है कि कम से कम उनकी जान तो सलामत है.

पहलू खान ने अपनी मौत से पहले पुलिस को दिए बयान में छह लोगों पर पीटने का इल्जाम लगाया था. ये सभी संघ परिवार से जुड़े है. हालांकि पुलिस ने इन्हें क्लीन चीट दे दी है.

हत्या के ये 6 आरोपी हुए बरी:

  1. ओम यादव (45),                        आखिल भारतीय विधार्थी परिषद का जिला संयोजक
  2. हुकुम चंद यादव (44),                   हिंदू जागरण मंच का कस्बा प्रमुख
  3. सुधीर यादव (45),                        गो सेवा समीति का अध्यक्ष
  4. जगमाल यादव (73),                     मानव जागृति मंच प्रमुख
  5. नवीन शर्मा (48)                          आरएसएस के संभाग प्रभारी
  6. राहुल सैनी (24)                          आखिल भारतीय विधार्थी परिषद का सह जिला संयोजक
Loading...