Thursday, October 28, 2021

 

 

 

NSA के दुरुपयोग को लेकर डॉ. कफील खान ने की यूएन में शिकायत, प्रियंका गांधी से भी की मुलाकात

- Advertisement -
- Advertisement -

हाल ही में जेल से छूटे डॉक्टर कफील खान ने राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के दुरुपयोग को लेकर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग (UN Human Rights Commission) का दरवाजा खटखटाया है। पत्र में उन्होने भारत में अंतरराष्ट्रीय मानव सुरक्षा मानकों के व्यापक उल्लंघन और असहमति की आवाज को दबाने के लिए NSA और UAPA जैसे सख्त कानूनों के दुरुपयोग किए जाने की बात कही।

अपने पत्र में खान ने संयुक्त राष्ट्र के इस निकाय को ‘शांतिपूर्ण तरीके से सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने’ वाले कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किए जाने के बाद उनके मानवाधिकारों की रक्षा करने के लिए भारत सरकार से आग्रह करने के मसले पर धन्यवाद दिया और यह भी कहा कि सरकार ने “उनकी अपील नहीं सुनी।’ खान ने लिखा, ‘मानव अधिकार के रक्षकों के खिलाफ पुलिस शक्तियों का उपयोग करते हुए आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा कानूनों के तहत आरोप लगाए जा रहे हैं। इससे भारत का गरीब और हाशिए पर रहने वाला समुदाय प्रभावित होगा।’

उन्होने जेल में बिताए दिनों के बारे में भी लिखा, ‘मुझे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया और कई दिनों तक भोजन-पानी से भी वंचित रखा गया और क्षमता से अधिक कैदियों वाली मथुरा जेल में 7 महीने की कैद के दौरान मुझसे अमानवीय व्यवहार किया गया। सौभाग्य से, हाई कोर्ट ने मुझ पर लगाए गए एनएसए और 3 एक्सटेंशन को खारिज कर दिया।’

पत्र लिखने के बाद डॉ. कफील खान ने अपने परिवार के साथ दिल्ली में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की। कफील के साथ ही उनकी पत्नी और बच्चे भी प्रियंका गांधी से मिले। बता दें कि डॉ. कफील खान की रिहाई के लिए कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में बड़ा अभियान चलाया था। हस्ताक्षर अभियान के साथ विरोध प्रदर्शन और जनता को पत्र लिखकर कांग्रेसियों ने डॉक्टर कफील खान की रिहाई के लिए आवाज बुलंद की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles