Thursday, October 28, 2021

 

 

 

दिल्ली हिंसा: सैकड़ों की जान बचाने वाले डॉ. अनवर को भी पुलिस ने बनाया आरोपी

- Advertisement -
- Advertisement -

सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुई देश की राजधानी में हुई हिं’सा को लेकर दिल्ली पुलिस पर एक तरफा कार्रवाई के आरोप लग रहे है। इसी बीच अब दिल्ली पुलिस ने ऐसे शख्स को आरोपी बनाया है। जिसने सैकड़ों की जान बचाई थी।

न्यूज़18 के अनुसार, पेशे से डॉ. अनवर. ने चार्जशीट में नाम आने पर कहा कि ‘यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है। मैं ही क्‍यों? मैंने तो दिल्‍ली हिं’सा के दौरान कई लोगों की जान बचाई थी।’ डॉ. अनवर ने बताया, ’24 फरवरी का दिन था। मैं दोपहर की नींद ले रहा था तभी मेरे पास इमर्जेंसी फोन कॉल आईं। मेरी आंख खुल गई। मैं उस दिन बिहार स्थित अपने गांव से लौटा था। लेकिन पता चला कि दिल्‍ली में हिं’सा हो गई है और अस्‍पताल में मेरी जरूरत है।’

उन्‍होंने कहा, ‘मेरे पास कपड़े बदलने का भी समय नहीं था। मैं तुरंत न्‍यू मुस्‍तफाबाद स्थित अल हिंद अस्‍पताल चला गया। उनके अनुसार उन्‍होंने फरवरी में हिंसा के दौरान बड़ी संख्‍या में लोगों की जान बचाई है। डॉ. अनवर ने बताया, ‘मैं उस समय सिर्फ उन लोगों को स्‍वास्‍थ्‍य सेवा मुहैया करा रहा था, जिन्‍हें इसकी जरूरत थी। मैंने मरीजों से यह तक भी नहीं पूछा कि वे हिंदू हैं या मुस्लिम। मैंने इंसानियत के नाते सब किया।’

डॉक्‍टर अनवर के अनुसार जब उत्‍तर पूर्वी दिल्‍ली में कर्फ्यू के कारण सड़कें बंद थीं, तब हिंसा कर रहे लोग एंबुलेंस को भी निशाना बना रहे थे। डॉक्‍टर अनवर और उनके भाई डॉक्‍टर मेराज इकराम ने उस दौरान करीब 500 मरीजों को इमरजेंसी मेडिकल सर्विस मुहैया कराई थी।

डॉक्‍टर अनवर, उनके भाई, दो नर्स और एक अन्‍य सहयोगी ने कर्फ्यू के दौरान भी लोगों को दवाएं और इमरजेंसी सर्विस मुहैया कराई थी। उस दौरान जिस मरीज को जरूरत थी उसे उन्‍होंने दूसरे अस्‍पतालों में भी शिफ्ट करवाया था। दं’गों में करीब 51 लोगों की मौ’त हुई थी।

डॉ. अनवर का नाम दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में दिलबर नेगी की ह’त्या के सिलसिले में डाला है। दिलबर नेगी एक रेस्तरां में काम करता था और दं’गों के दौरान भीड़ द्वारा मार दिया गया था। डॉक्टर पर नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्‍व करने और लोगों को दं’गों के लिए भड़काने का आरोप है।

इस पर डॉ. अनवर कहते हैं, ‘मैं कभी किसी प्रदर्शन में शामिल नहीं हुआ। मैं डॉक्‍टर हूं और मेरा काम लोगों का इलाज करना व उनकी जान बचाना है। ये वही है जो मैंने किया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles