Saturday, December 4, 2021

डॉक्टर कफ़ील बोले – मुझे बनाया गया बलि का बकरा, बच्चों की मौ’त की हो CBI जांच

- Advertisement -

पटना: 2 साल पहले गोरखपुर के BRD अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी के कारण 60 से अधिक बच्चों की मौत के मामले में सीबीआई जांच की मांग उठाते हुए डॉ. कफील खान ने मंगलवार को कहा, ‘मैं BRD में बच्चों की मौत की CBI जांच कराए जाने के साथ उक्त मामले को उत्तर प्रदेश के बाहर ट्रांसफर किए जाने की मांग करता हूं।’

डॉ कफील “सभी के लिए स्वास्थ्य” अभियान के सिलसिले में बिहार आए हुए थे। वह बेगूसराय में भाकपा प्रत्याशी कन्हैया कुमार के पक्ष में प्रचार करने के बाद मंगलवार को पटना आए। उन्होंने कहा कि इस त्रासदी के लिए जिम्मेदार लोग खुले घूम रहे हैं। विभागीय जांच पिछले 18 महीनों से चल रही है जबकि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मार्च 2018 में आदेश दिया था कि इसे तीन महीने के भीतर पूरा किया जाए।

डॉ कफील ने दावा किया, ‘‘उच्च न्यायालय ने भी कहा कि मैं किसी भी चिकित्सा लापरवाही या भ्रष्टाचार का दोषी नहीं था और न ही मैं किसी भी तरह से निविदा प्रक्रिया में शामिल था। एक आरटीआई जांच ने यह भी स्थापित किया है कि सिलेंडर की कमी 54 घंटों तक जारी रही थी और मैंने अपने बच्चों को बचाने के लिए खुद ही सिलेंडर की व्यवस्था की थी।”

डॉ कफील ने कहा “मुझे उस त्रासदी के लिए बलि का बकरा बनाया गया जो कि आपूर्तिकर्ता को बकाया भुगतान न करने के कारण ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति में कमी के कारण हुई थी। मैं मानता हूं कि असली दोषी वे अधिकारी हैं जो बकाया भुगतान के लिए आपूर्तिकर्ताओं से पत्र की मांग कर रहे थे।’’

डॉ कफील ने केंद्र से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि जीडीपी का कम से कम तीन प्रतिशत स्वास्थ्य देखभाल पर खर्च किया जाए। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में मौजूदा रिक्तियां लगभग 1.5 लाख होने की उम्मीद है और इसे शीघ्रता से भरने की जरूरत है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles