0521 banjaaraa

गुजरात के पूर्व आईपीएस ऑफिसर डीजी बंजारा ने भाजपा नेता और गुजरात के पूर्व मंत्री हरेन पांड्या की हत्या की सुपारी दी थी। इस बात का खुलासा सोहराबुद्दीन शेख कथित फेक एन’काउंटर केस में एक गवाह ने किया है। रेन पांड्या की ह’त्या वर्ष 2003 में कर दी गई थी।

गवाह आजम खान, जो कि सोहराबुद्दीन और तुलसीराम प्रजापति का सहयोगी रहा चुका है, ने कहा कि 2010 में उसने इस बारे में सीबीआई जांचकर्ता को बताया था, लेकिन आॅफिसर ने उसके बयान में इसे दर्ज करने से मना कर दिया था।

खान ने कोर्ट को बताया, “सोहराबुद्दीन से बात करते समय, उसने मुझे बताया था कि नईम खान और शाहीद रामपुरी के साथ हरेन पांड्या की ह’त्या का कांट्रैक्ट मिला था और उन्होंने उन्हें मार डाला। मैं उदास हो गया और मैंने सोहराबुद्दीन से कहा कि उनलोगों ने एक अच्छे आदमी की ह’त्या कर दी। सोहराबुद्दीन ने मुझे बताया कि वह कांट्रैक्ट उन्हें बंजारा ने दी थी।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सोहराबुद्दीन ने बताया था कि उसने बंजारा के कहने पर नईमुद्दीन और शाहिद के साथ मिलकर हरेन की ह’त्या की थी। उसी ने सोहराबुद्दीन, उसकी पत्नी कौसरबी और तुलसी को अपनी बुआ के मल्लातलाई (उदयपुर) स्थित मकान में पनाह दी थी।

बयान में कहा कि एक दिन सोहराबुद्दीन ने गुजरात बिल्डर के यहां फायरिंग करवाई थी। सोहराबुद्दीन ने मार्बल वाले को धमकी दी थी, तो उदयपुर के हमीद लाला के कहने पर मार्बल व्यापारी ने सोहराबुद्दीन के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था।

सीबीआई के विशेष जज एसजे शर्मा के समक्ष अपना बयान दर्ज कराते हुए गवाह ने कहा, ‘प्रजापति ने मुझसे कहा कि गुजरात पुलिस ने सोहराबुद्दीन और उसकी पत्नी कौसर बी की हत्या की’। बता दें कि गुजरात पुलिस के साथ साल 2005 में एक कथित फर्जी मुठभेड़ में सोहराबुद्दीन और उसकी पत्नी मारी गई थी।

Loading...