Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

ईडी की अदालत में याचिका – जाकिर नाइक को आर्थिक भगोड़ा घोषित करने की मांग

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई. प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को मुंबई की एक विशेष अदालत के समक्ष अर्जी दायर कर विवादित सलाफ़ी उपदेशक जाकिर नाइक को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने की मांग की है।

नाईक पर 193 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं। नाईक के खिलाफ दायर इस अर्जी पर कोर्ट 30 सितंबर को सुनवाई करेगा। पिछले हफ्ते ही अदालत ने 2016 के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नाईक के खिलाफ नया गैर जमानती वारंट जारी किया था।

एजेंसी ने अभी तक नाईक के दो सहयोगियों आमिर गजदार और नजमुद्दीन साथक को गिरफ्तार किया है। नाइक ने 2016 में भारत छोड़ दिया था और मुस्लिम बहुल मलेशिया चला गया था जहां उसे स्थायी निवास की अनुमति मिल गई।

ईडी ने गैरकानूनी गतिविधियां निवारण कानून (यूएपीए) के तहत राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा दायर प्राथमिकी पर 2016 में उस पर मामला दर्ज किया था। अधिकारी धन शोधन और घृणा भरे भाषणों के जरिए चरमपंथ को भड़काने के आरोप में विवादित उपदेशक की तलाश कर रहे हैं।

इस साल जुलाई में अदालत ने नाइक के खिलाफ सम्मन जारी किया था। एजेंसी ने चेन्नई में इस्लामिक इंटरनेशनल स्कूल, दस फ्लैट, तीन गोदाम, पुणे तथा मुंबई में दो इमारतें और जमीन समेत नाइक की संपत्तियां कुर्क कर ली थी और बैंक खाते जब्त कर लिए थे।

News18 इनपुट के साथ….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles