Thursday, January 20, 2022

शाहीन बाग में सिखों की और से चल रहे लंगर को दिल्ली पुलिस ने उखाड़ा

- Advertisement -

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों की अंतराष्ट्रीय पहचान बन चुके शाहीन बाग में पुलिस शुक्रवार (जुमा) को दोपहर बाद पहुंची दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने वहां लंगर का टेंट उखाड़ दिया। ये लंगर सिख समुदाय चला रहा था।

इसके साथ ही पुलिस मंच से सात-आठ लोगों को पूछताछ के लिए थाने ले गई है। इससे नाराज प्रदर्शनकारी थाने पहुंचे हैं। गिरफ्तारी से प्रदर्शनकारियों में आक्रोश है। पुलिस की कार्रवाई के बाद प्रदर्शनकारियों मान रहे हैं कि रात में उनकी बिजली भी काटी जा सकती है, जिसके बाद यहां जनरेटर का इंतजाम किया जा रहा है।

शाहीन बाग के ही रहने सोशल एक्टिविस्ट शहजाद ने बताया कि दिल्ली पुलिस गुरुवार रात से ही धरना खत्म करने का दबाव बना रही थी। जिस टेंट हाउस मालिक के टेंट यहां लगे हैं उससे कहा कि अपने टेंट उखाड़ लो वर्ना तुम पर केस कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं शुक्रवार को जब लोग जुमे की नमाज के लिए गए हुए थे तभी दिल्ली पुलिस ने पीछे से आकर लंगर के टेंट को उखाड़ दिया।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों की अंतराष्ट्रीय पहचान बन चुके शाहीन बाग में पुलिस शुक्रवार (जुमा) को दोपहर बाद पहुंची दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने वहां लंगर का टेंट उखाड़ दिया। ये लंगर सिख समुदाय चला रहा था।

इसके साथ ही पुलिस मंच से सात-आठ लोगों को पूछताछ के लिए थाने ले गई है। इससे नाराज प्रदर्शनकारी थाने पहुंचे हैं। गिरफ्तारी से प्रदर्शनकारियों में आक्रोश है। पुलिस की कार्रवाई के बाद प्रदर्शनकारियों मान रहे हैं कि रात में उनकी बिजली भी काटी जा सकती है, जिसके बाद यहां जनरेटर का इंतजाम किया जा रहा है।

शाहीन बाग के ही रहने सोशल एक्टिविस्ट शहजाद ने बताया कि दिल्ली पुलिस गुरुवार रात से ही धरना खत्म करने का दबाव बना रही थी। जिस टेंट हाउस मालिक के टेंट यहां लगे हैं उससे कहा कि अपने टेंट उखाड़ लो वर्ना तुम पर केस कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं शुक्रवार को जब लोग जुमे की नमाज के लिए गए हुए थे तभी दिल्ली पुलिस ने पीछे से आकर लंगर के टेंट को उखाड़ दिया।

बता दें कि प्रदर्शनस्थल पर कुल पांच लंगर चलते हैं, जिनके संचालकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और इन्हें किसी गुप्त स्थान पर ले गई है। पुलिस ने लंगर के तंबू हटा दिए हैं और सड़कों पर लगी दुकानों को भी हटाने की चेतावनी दी है। पुलिस की कार्रवाई से नाराज प्रदर्शनकारी जबरन पूरे इलाके की दुकानों को बंद करा रहे हैं।

खास बात यह है कि शाहीन ब़ाग की तर्ज पर देश के दूसरे हिस्सों में भी दर्जनों जगहों पर महिलाओं ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरना शुरु कर दिया है।

बता दें कि प्रदर्शनस्थल पर कुल पांच लंगर चलते हैं, जिनके संचालकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और इन्हें किसी गुप्त स्थान पर ले गई है। पुलिस ने लंगर के तंबू हटा दिए हैं और सड़कों पर लगी दुकानों को भी हटाने की चेतावनी दी है। पुलिस की कार्रवाई से नाराज प्रदर्शनकारी जबरन पूरे इलाके की दुकानों को बंद करा रहे हैं।

खास बात यह है कि शाहीन ब़ाग की तर्ज पर देश के दूसरे हिस्सों में भी दर्जनों जगहों पर महिलाओं ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरना शुरु कर दिया है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles