Saturday, October 23, 2021

 

 

 

दिल्ली पुलिस ने दो संदिग्ध आतंकी पकड़े, परिजन बोले – हमारे बच्चे बेकसूर, झूठा फंसाया गया

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली पुलिस (Delhi police) की स्पेशल सेल ने मंगलवार को सराय काले खां इलाके से दो संदिग्ध आतंकी को पकड़ा है। दोनों का सबंध जैश-ए-मोहम्मद से बताया जा रहा है। दोनों की पहचान सोपोर के अब्दुल लतीफ और कुपवाड़ा के अशरफ खटाना के रूप में हुई है।

डीसीपी (स्पेशल सेल) संजीव यादव ने कहा कि “रात करीब 10.15 बजे बारामूला जिले के मूल निवासी अब्दुल लतीफ मीर (22) और कुपवाड़ा जिले के मूल निवासी मोहम्मद अशरफ खटाना (20) को हमारी टीम ने गिरफ्तार किया है।” यादव ने कहा कि उनके कब्जे से 10 जिंदा कारतूस के साथ दो सेमी-ऑटोमैटिक पिस्तौल बरामद किए हैं। आगे की जांच जारी है।

दूसरी और युवकों के घरवालों ने दिल्ली पुलिस पर अपने बच्चों को फँसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने जम्‍मू-कश्‍मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह से अपने बच्‍चों को जल्‍द रिहा कराने की गुहार लगाई।

अशरफ खटाना के पिता बशीर अहमद खटाना ने कहा कि उनका बेटा चार नवंबर को घर से दिल्‍ली गया था। उसकी 11 नवंबर को शादी थी। इसके लिए शॉपिंग करने वह दिल्‍ली गया था। उनकी अपने बेटे से अंतिम बार 5 नवंबर को बात हुई। बेटे ने कहा था कि अगले दिन दिल्ली पहुंच जाएगा और सामान खरीद कर वापस आ जाएगा, लेकिन उसके बाद अशरफ का कोई पता नहीं चला। अब उन्हें खबर दी गई है कि उनका बेटा जैश का सदस्य था और दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। बशीर ने मांग की है कि उनके बेटे के पुराने रेकॉर्ड चेक किए जाए। इससे साफ हो जाएगा कि उसका आतंकवाद से कोई लेना देना नहीं है। इस तरह गिरफ्तार होने के बाद उसकी शादी टल गई है और उसके ससुराल के लोग बेहद परेशान हैं।

वहीं, दूसरे युवक अब्‍दुल लतीफ के पिता सन्नाउल्ला मीर ने बताया कि उनका बेटा घर से 4 नवंबर को अपने एक दोस्‍त के साथ निकला था। 6 नवंबर को उससे आखिरी बार बात हुई थी। अब टीवी के जरिये उन्‍हें पता चला है कि अब्‍दुल को दिल्‍ली पुलिस ने अरेस्‍ट कर लिया है। उनके बेटे का आतंकवाद में कोई रोल नहीं हैं। वह नमाज पढ़ने वाला बच्‍चा है। उसे दिल्‍ली पुलिस ने फंसाया है। इतने दिन लापता होने के बाद अब एकदम से बताया गया है कि वह हथियारों के साथ पकड़ा गया है। इतने दिन तक उसे कहां रखा गया था, यह जानकारी नहीं दी गई है। उसका मोबाइल नंबर भी बंद था। पिता का कहना है कि पूरी एक सोची समझी साजिश के तहत उनके बेटे को फंसाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles