kisankranti
[email protected]

राजधानी दिल्ली में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले भारी तादाद में किसान आन्दोलन करने पहुँच रहे है. किसानों की यह रैली हरिद्वार से निकली इस रैली यूपी-दिल्ली की सीमा पर रोक दिया गया. इस दौरान सुरक्षाबलों और किसानों थोड़ी झडप भी हुयी किसानों पर वॉटर कैनन छोड़ दिया साथ ही आंसू गैस के गोले से भी वार किया गया.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, किसानों पर आक्रमण के दौरान कई किसान घायल हो गए. इससे पहले कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी होने की आशंका को देखते हुए पुलिस ने सोमवार को पूर्वी और उत्तरपूर्वी दिल्ली में एक हफ्ते के लिये निषेधाज्ञा लागू कर दी थी. पूर्वी दिल्ली में पुलिस उपायुक्त (पूर्व) पंकज सिंह ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत आदेश जारी किया जो आठ अक्टूबर तक प्रभावी रहेगा.
kisan

पोल्किस ने बताया की इस आदेश के तहत प्रीत विहार, जगतपुरी, शकरपुर, मधु विहार, गाजीपुर, मयूर विहार, मंडावली, पांडव नगर, कल्याणपुरी और न्यू अशोक नगर पुलिस थानाक्षेत्र आते हैं.

वहीँ आपको बता दें की, भारतीय किसान यूनियन के हरियाणा प्रमुख आंसू गैस के कारण सड़क पर बेहोश हो गए. इसके बाद किसानों और पुलिस में बहसबाजी शुरू हो गई. बीकेयू के साथ जुड़े हजारों किसानों यूपी-दिल्ली की सीमा पर मौजूद हैं. भारतीय किसान यूनियन के हरियाणा प्रमुख आंसू गैस के कारण सड़क पर बेहोश हो गए.

इन सभी झड़प के बाद आलम यह है की किसानों और पुलिस में बहसबाजी शुरू हो गई. बीकेयू के साथ जुड़े हजारों किसानों यूपी-दिल्ली की सीमा पर मौजूद हैं और आन्दोलन को प्रगति दे रहे है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें