nakal

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नकली नोटों की तस्करी के मामले में 32 साल के दीपक मंडल को गिरफ्तार किया है। जिसके पास से दो-दो हजार के साढ़े सात लाख रुपये के नकली नोट बरामद हुए हैं। दीपक पश्चिम बंगाल के मालदा का रहने वाला है।

12 वर्ष से तस्करी में लिप्त दीपक दिल्ली में वह करीब दो करोड़ के नकली नोट खपा चुका है। उसे अलग-अलग राज्यों की पुलिस तीन बार गिरफ्तार भी कर चुकी है। छह वर्ष की सजा काटकर दो वर्ष पहले ही वह जेल से बाहर आया था।दीपक कई साल से बांग्लादेश बॉर्डर और पाकिस्तान में छपे नकली नोट दिल्ली और देश के दूसरे राज्यो में सप्लाई कर रहा है।

स्पेशल सेल के मुताबिक दीपक एक 2 हजार का एक नकली नोट 800 रुपए में खरीद कर उसे अपने नेटवर्क के जरिए आगे 1200 रुपए में बेच देता था। पुलिस के मुताबिक नकली नोट पाकिस्तान में इतनी सफाई के छापे जा रहे हैं कि असल और नकली में पहचान करना मुश्किल है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

200

मंडल ने पुलिस को बताया कि वह बांग्लादेश बार्डर पर अपने सोर्स से 800 रु. में दो हजार का एक नोट खरीदकर दिल्ली-एनसीआर के अलावा देश के दूसरे राज्यों में 1200 रु. में बेच देता था। इस प्रकार उसे दो हजार के एक नोट पर 400 रु. का मुनाफा मिलता था।

स्पेशल सेल के पुलिस उपायुक्त पीके कुशवाहा ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि पाकिस्तान में बने जाली नोट बांग्लादेश बॉर्डर के रास्ते पश्चिम बंगाल में भेजे जा रहे हैं। वहां से नोटों को एक तस्कर गिरोह दिल्ली और आस-पास के राज्यों में खपा रहा है।