26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन (Republic Day Violence) किसानों की ट्रेक्टर रैली के दौरान हुई  हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने मुख्य आरोपी दीप सिद्धू को गिरफ्तार कर लिया है। दीप सिद्धू पर दिल्ली पुलिस ने 1 लाख रुपये का इनाम रखा हुआ था।

स्पेशल सेल की टीम ने उसे पंजाब से गिरफ्तार किया है। उसे पंजाब के जीरकपुर नाम के इलाके से गिरफ्तारी किया गया है। स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने सिद्धू की गिरफ्तारी की पुष्टि की। हालांकि दीप के अलावा पूर्व गैंगस्टर लक्खा सिधाना और लाल किले पर झंडा फहराने वाला जुगराज अभी भी लापता हैं।

हालांकि उसने फेसबुक पर अपना वीडियो पोस्ट कर खुद को बेगुनाह होने का दावा किया।  Video में उसने कहा था कि उसने कुछ गलत नहीं किया है। इसलिए उसे किसी बात का कोई डर नहीं है। वह मामले से जुड़े सबूत जुटा रहा है और दो दिन बाद पुलिस के सामने पेश होगा। उसने जांच एजेंसियों से उसके परिवार को परेशान न करने के लिए कहा था।

बता दें कि दीप सिद्धू 2019 में गुरदासपुर चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा सांसद सनी देओल की ओर से नियुक्त टीम का हिस्सा थे। हालांकि, सनी देओल ने अपने फेसबुक अकाउंट पर अपना 6 दिसंबर, 2020 का एक पोस्ट शेयर किया है, जिसमें उन्होंने स्पष्ट रूप से लिखा है कि उनका दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है।

सनी देओल ने अपने सोशल मीडिया पर लिखा- “आज लाल किले पर जो हुआ, उसे देखकर मन बहुत दुखी हुआ है। मैं पहले भी 6 दिसंबर को फेसबुक के माध्यम से यह साफ कर चुका हूं कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू के साथ कोई संबंध नही है।