Thursday, January 27, 2022

CAA विरोध: बिजनौर में सुलेमान की हत्या के मामले में 6 पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज

- Advertisement -

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान 20 साल के मोहम्मद सुलेमान की मौत के मामले में छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। सुलेमान के भाई शोएब ने नहटौर के पूर्व थाना प्रभारी राजेश सोलंकी, दरोगा आशीष तोमर, सिपाही मोहित तोमर समेत 6 पुलिसकर्मियों पर भाई की गोली मारकर हत्या करने की शिकायत दर्ज कराई है।

नहटौर पुलिस थाने के एसएचओ सत्यप्रकाश सिंह ने कहा कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302, 147, 148 और 149 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। सिंह ने कहा कि सोलंकी का तबादला डिस्ट्रिक्ट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (डीसीआरबी) में कर दिया गया है।

सुलेमान ग्रेजुएशन अंतिम वर्ष के छात्र थे और नोएडा में अपने मामा अनवर उस्मान के यहां रहकर यूपीएससी की तैयारी करते थे। बुखार होने के कारण वे अपने घर नहटौर आए हुए थे। वहीं मोहित कुमार बिजनौर पुलिस की स्पेशन ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) से जुड़े हुए हैं। फिलहाल बिजनौर के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

नागरिकता कानून के खिलाफ बिजनौर में भड़की हिंसा मामले की मजिस्ट्रेटियल जांच होगी। वहीं, डीएम रमाकांत पांडेय ने बताया कि हिंसा में हुए नुकसान व सार्वजनिक संपत्तियों की तोड़फोड़ में शामिल 43 लोगों को करीब 15 लाख की क्षतिपूर्ति के रिकवरी का नोटिस जारी किया है।

बता दें कि द संडे एक्सप्रेस को बिजनौर के पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी ने 23 दिसंबर को इस बात की पुष्टी की थी कि सुलेमान की मौत पुलिस कांस्टेबल मोहित कुमार की गोली से हुई है। कांस्टेबल ने यह गोली आत्मरक्षा में फायर किया था जो सुलेमान को जाकर लगी जिससे उसकी मौत हो गई।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles